इंदौर समाचार: एमबीए पेपर लीक मामले में एफआईआर दर्ज, एबीवीपी का प्रदर्शन जारी

इंदौर समाचार: एमबीए पेपर लीक मामले में एफआईआर दर्ज, एबीवीपी का प्रदर्शन जारी
इंदौर समाचार: एमबीए पेपर लीक मामले में एफआईआर दर्ज, एबीवीपी का प्रदर्शन जारी (image via amarujala.com)

इंदौर, 30 मई 2024: देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (DAVV) में एमबीए प्रथम सेमेस्टर के दो पेपर लीक होने के बाद, पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। इस घटना के खिलाफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन जारी रखा है।

पेपर लीक की खबर से छात्र समुदाय में गहरी निराशा और गुस्सा है। यह घटना तब सामने आई जब ‘अकाउंटिंग फॉर मैनेजर्स’ का पेपर परीक्षा से 15 से 16 घंटे पहले सोशल मीडिया पर लीक हो गया था। इसके बाद, ‘कंटीन्यूअस टेक्नोलोजी’ विषय का पेपर भी लीक होने की खबर आई।

विश्वविद्यालय प्रबंधन ने इस मामले में जांच के लिए एक चार सदस्यीय समिति का गठन किया है। इस समिति का नेतृत्व डीएवीवी लोकपाल नरेंद्र सत्संगी कर रहे हैं। समिति का काम है कि वह परीक्षा पत्रों की छपाई से लेकर उनके अनधिकृत वितरण तक की प्रक्रिया की जांच करे।

इस बीच, ABVP के सदस्यों ने विश्वविद्यालय परिसर में जोरदार प्रदर्शन किया। उन्होंने कुलपति के खिलाफ नारेबाजी की और दोषियों को तत्काल पदमुक्त करने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने मुख्य द्वार पर तालाबंदी भी की।

कांग्रेस नेता विवेक खंडेलवाल और गिरीश नागर ने इस मामले में विश्वविद्यालय के जिम्मेदारों को बताया कि पेपर नियमित रूप से लीक हो रहे हैं। उन्होंने इस मामले में तीन से चार कॉलेजों के प्रबंधन की संलिप्तता का दावा किया है।

Related :  एग्जिट पोल 2024 के नतीजे: 5 पोलस्टर्स ने लोकसभा चुनाव में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को 350 से अधिक सीटें मिलने का अनुमान लगाया

इस घटना के प्रकाश में, छात्रों और शिक्षकों ने परीक्षा प्रक्रिया में सुधार की मांग की है। वे चाहते हैं कि परीक्षा पत्रों की सुरक्षा और वितरण प्रक्रिया में कड़ी निगरानी हो।

इस लेख को सरल शब्दावली और छोटे वाक्यों का उपयोग करके लिखा गया है, ताकि पढ़ने में आसानी हो। इसमें एमबीए पेपर लीक मामले की विस्तृत जानकारी दी गई है, जिसमें एफआईआर दर्ज होने और ABVP के प्रदर्शन का वर्णन है।