HomeSPORTSसुनील गावस्कर के फैन हुए जावेद मियांदाद, बोले- वे गालियां देते थे...

सुनील गावस्कर के फैन हुए जावेद मियांदाद, बोले- वे गालियां देते थे और मुझे मजा आता था

Javed Miandad -Sunil Gavaskar - India TV Hindi
Image Source : REALPCB/PTI
Javed Miandad -Sunil Gavaskar 

Highlights

  • पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने खुलकर की सुनील गावस्कर की तारीफ
  • दुनियाभर के तेज गेंदबाजों का सुनील गावस्कर बाखूबी सामना करते थे : मियांदाद
  • मियांदाद बोले, छोटा कद होने के बाद भी तेज गेंदबाजों की खूब पिटाई करते थे

भारत और पाकिस्तान के बीच आपसी रिश्ते ठीक नहीं हैं। दोनों देशों के बीच सीरीज भी नहीं होती है। हालांकि आईसीसी की ट्रॉफी में दोनों देशों की टीमें आमने सामने होती हैं। पाकिस्तान के आज के ​क्रिकेटर हों या फिर पूर्व खिलाड़ी दोनों अक्सर भारतीय खिलाड़ियों की जमकर तारीफ करते रहते हैं। अब पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद ​मियांदाद ने भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर की शान में कसीदे पढ़े हैं। जावेद मियांदाद ने खुलकर कहा कि आज की युवा पीढ़ी को क्रिकेट सीखने के लिए सुनील गावस्कर के वीडियो देखने चाहिए। 

जावेद मियांदाद बोले, कम कद होने के बाद भी तेज गेंदबाजों की खूब धुनाई

पाकिस्तान ​क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद का मानना है कि मौजूदा खिलाड़ियों को सुनील गावस्कर के वीडियो देखने चाहिए कि कैसे उन्होंने माइकल होल्डिंग, एंडी रॉबटर्स, मैल्कम मार्शल, इमरान खान, रिचर्ड हैडली और डेनिस लिली जैसे दुनिया के सबसे खतरनाक तेज गेंदबाजों का सामना किया। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी की ओर से एक वीडियो जारी किया गया है, जिसमें जावेद मियांदाद ने कहा है कि यह अद्भुत था कि इतना कम कद होने के बावजूद वह दुनिया भर में क्या खूब खेले। उनके प्रदर्शन में निरंतरता कमाल की थी। पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने कहा  कि आज के खिलाड़ी उनके वीडियो देखकर बहुत कुछ सीख सकते हैं। उन्होंने छोटे कद के बावजूद तेज गेंदबाजों का सामना कैसे किया। उस समय वेस्टइंडीज, इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और पाकिस्तान में काफी खतरनाक तेज गेंदबाज थे, लेकिन वह सबके सामने कामयाब रहे। 

सुनील गावस्कर की एकाग्रता तोड़ने के लिए पास करते थे फील्डिंग 
सुनील गावस्कर के साथ अपने संबंधों के बारे में उन्होंने कहा कि मुझे उनकी बल्लेबाजी देखने में मजा आता था। मैं उनके करीब फील्डिंग करता था और बोलता रहता था ताकि उनकी एकाग्रता टूटे। कई बार उनका फोकस तोड़ने में कामयाब रहा। वह मैदान से मुझे गालियां देते हुए निकलते और मुझे बड़ा मजा आता।

(PTI inputs)





Source link

Stay Connected
3,000FansLike
2,458FollowersFollow
15,000SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here