दंतेवाड़ा में पुलिस-नक्सली मुठभेड़, 5 लाख का इनामी ओवादी ढेर, नक्सलियों के जमावड़े की थी सूचना…

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में सोमवार की रात पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ हो गई। पुलिस ने एक हार्डकोर नक्सली को ढेर कर दिया। उस पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित था। मुठभेड़ कटेकल्याण थाना के जंगलों में हुई है। बड़ी संख्या में माओवादियों के जमावड़े की सूचना पर ऑपरेशन लॉंच किया गया था। दोनों ओर से करीब आधे घंटे तक फायरिंग हुई है। डीआरजी जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल का फायदा उठाकर भाग खड़े हुए। इस मुठभेड़ में और भी माओवादियों के घायल होने का अंदेशा है। जवान अभी भी मौके पर मौजूद हैं और सर्चिंग अभियान चला रहे हैं।

दंतेवाड़ा एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने बताया कि कटेकल्याण थानाक्षेत्र के जबरामेट्टा के जंगलों में बड़ी संख्या में माओवादियों के जमावड़े की सूचना मिली थी। दंतेवाड़ा डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) की टीम को सर्चिंग के लिए रवाना किया गया था। मौके पर देर रात पहुंचे जवानों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया। जवानों ने भी मोर्चा संभाला और मुंहतोड़ जवाब दिया। दोनों ओर से लगभग आधे घंटे तक फायरिंग हुई। गोलीबारी रुकने के बाद घटनास्थल की सर्चिंग करने पर एक पुरूष माओवादी का शव बरामद किया गया है। मारे गए नक्सली की शिनाख्त बुधराम मरकाम के रूप में की गई है। वह नक्सली संगठन में एसीएम के पद पर था। उस पर छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 5 लाख का इनाम घोषित किया गया था। वह कई घटनाओं में शामिल रहा है।

28 जुलाई से माओवादियों का शहीदी सप्ताह
दो सप्ताह से बस्तर में हो रही बारिश के बीच माओवादियों ने अपनी उपस्तिथि लगातार दर्ज करवाई है। बस्तर के अलग अलग क्षेत्रों में लगातार माओवादी घटना को अंजाम दे रहे, जिसमें सुकमा में 2 ग्रामीणों की हत्या और बीजापुर में वाहन में आगजनी की है। आज भी सुकमा के कई इलाकों में शहीदी सप्ताह को लेकर माओवादियों ने पर्चे और बैनर लगाकर आह्वान किया है। दरअसल 28 जुलाई से 2 अगस्त तक माओवादी अपने मारे गए साथियों की याद में शहीदी सप्ताह मनाते हैं। दंतेवाड़ा एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने माओवादियों से समर्पण कर मुख्यधारा में लौटने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *