HomeAUTOMOBILEफाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा...

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

इस कदम के साथ, स्कोडा ऑटो फाॅक्सवैगन समूह ने भारत 2.0 प्रोजेक्ट में एक माइलस्टोन बना लिया है। भारत से निर्यात की जाने वाली टाइगन के बाद वर्टस MQB-A0-IN प्लेटफॉर्म पर बनी दूसरी फाॅक्सवैगन कार है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

स्कोडा ऑटो फाॅक्सवैगन इंडिया के प्रबंध निदेशक, पीयूष अरोड़ा ने कहा, “हम विकास के अपने पथ पर आक्रामक रूप से आगे बढ़ रहे हैं और निर्यात करना इस दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम है।”

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

उन्होंने कहा, “इस कदम के साथ, हम भारत को वैश्विक स्तर पर वीडब्ल्यू समूह के लिए निर्यात केंद्र बनाने के अपने लक्ष्य को साकार करने के करीब हैं, जो हमारी भारत की रणनीति का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

फाॅक्सवैगन वर्टस,फाॅक्सवैगन ग्रुप के इंडिया 2.0 प्रोजेक्ट के तहत दूसरा उत्पाद है, पहला टाइगन मिड-साइज एसयूवी है। यह इंडिया स्पेसिफिक MQB A0-IN प्लेटफॉर्म पर आधारित है और स्कोडा स्लाविया के साथ अपने मैकेनिकल फीचर शेयर करता है। फॉक्सवैगन वर्टस की कीमत फिलहाल 11.22 लाख रुपये से 17.92 लाख रुपये, एक्स-शोरूम है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

कंपनी ने फाॅक्सवैगन वर्टस को कुल दो इंजन विकल्पों के साथ बाजार में बेच रही है, जिसमें पहला 1.0-लीटर टीएसआई और दूसरा 1.5-लीटर टीएसआई पेट्रोल इंजन है। इस जहां इस कार के 1.0-लीटर टीएसआई पेट्रोल इंजन को कुल 5 वेरिएंट – कम्फर्टलाइन एमटी, हाइलाइन एमटी, हाइलाइन एटी, टॉपलाइन एमटी और टॉपलाइन एटी में पेश किया गया है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

वहीं इसके 1.5-लीटर टीएसआई पेट्रोल इंजन को सिर्फ एक जीटी प्लस डीएसजी वेरिएंट में बेचा जा रहा है। डिजाइन की बात करें तो फॉक्सवैगन वर्चस में सामने दो स्लैट वाला ग्रिल दिया गया है, इसके साथ ही दो प्रोजेक्टर हेडलाइट, एलईडी डीआरएल के साथ दिया गया है।

सामने हिस्से में बड़ा एयर डैम व हैलोजन हेडलाइट देखनें को मिलता है। इसके साइड हिस्से में डुअल टोन अलॉय व्हील, एक शार्क फिन एंटीना, क्रोम इन्सर्ट के साथ डोर हैंडल, ब्लैक ओआरवीएम दिया गया है। इसके पिछले हिस्से की बात करें तो इसमें एलईडी टेल लाइट दिया गया है और पीछे से बेहद आकर्षक लगती है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

तीन दिन पहले ही फॉक्सवैगन इंडिया ने भारत में टाइगन कार की लॉन्चिंग के एक साल पूरे होने के मौके पर इसका एनिवर्सरी एडिशन लॉन्च किया था। फॉक्सवैगन टाइगन एनिवर्सरी एडिशन मौजूदा करकुमा येलो और वाइल्ड चेरी रेड के अलावा एक नए राइजिंग ब्लू कलर ऑप्शन के साथ मिलेगी।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

फीचर्स

इसके डिजाइन की बात करें तो इसमें 11 तरह के खास विकसित एलिमेंट्स मिलते हैं। जिसमें हाई लक्स फॉग लैंप, बॉडी-कलर्ड डोर गार्निश, ब्लैक सी-पिलर ग्राफिक्स, ब्लैक रूफ फॉयल, डोर-एज प्रोटेक्टर, ब्लैक ओआरवीएम कैप, विंडो वाइजर्स एल्यूमीनियम पेडल जैसे फीचर्स हैं। फॉक्सवैगन टाइगन के स्टैंडर्ड वैरिएंट की कीमत इस समय 11.40 लाख रुपये से 18.60 लाख रुपये (एक्स शोरूम) है।

फाॅक्सवैगन वर्टस का निर्यात भारत से हुआ शुरू, पहला बैच मेक्सिको भेजा गया

फॉक्सवैगन का दावा है कि पिछले एक साल में टाइगन की 40,000 से ज्यादा यूनिट्स की बिक्री हुई है। यह आगे दावा करता है कि फॉक्सवैगन ने सप्लाई चेन संकट के बावजूद, पिछले एक साल में टाइगन एसयूवी की 22,000 से ज्यादा यूनिट्स की डिलीवरी की है।





Source link

Stay Connected
3,000FansLike
2,458FollowersFollow
15,000SubscribersSubscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here