Forbes की 400 अमीरों की सूची में चार भारतीय-अमेरिकी, इस लिस्ट में Elon Musk को पहली बार मिला ये स्थान

Forbes- India TV Hindi News
Photo:IANS Forbes की 400 अमीरों की सूची में चार भारतीय-अमेरिकी

Highlights

  • 400 सबसे धनी अमेरिकियों की वर्थ 4 ट्रिलियन डॉलर
  • विनोद खोसला को 181वां स्थान
  • पिछले साल की तुलना में 500 बिलियन डॉलर कम है संपत्ति

Forbes 400 Rich List: भारतीय मूल के अमेरिकी विनोद खोसला, रोमेश वाधवानी और राकेश गंगवाल ने फोर्ब्स 2022 की 400 सबसे धनी अमेरिकियों की सूची में जगह बनाई है। वहीं जेस्केलर के सीईओ जे चौधरी 8.2 बिलियन डॉलर के साथ इस सूची की अगुवाई कर रहे हैं। कुल मिलाकर टेस्ला के एलन मस्क ने पहली बार शीर्ष स्थान हासिल किया है। उन्होनें अमेजन के पूर्व सीईओ जेफ बेजोस को पछाड़ दिया है, जो लगातार चार वर्षों तक शीर्ष स्थान हासिल करते आ रहे थे।

पिछले साल की तुलना में 500 बिलियन डॉलर कम है कमाई

फोर्ब्स ने नोट किया कि एक समूह के रूप में 400 सबसे धनी अमेरिकियों की वर्थ 4 ट्रिलियन डॉलर है, जो पिछले साल की तुलना में 500 बिलियन डॉलर कम है। 63 साल के चौधरी 63 ने 2008 में साइबर सुरक्षा फर्म जेस्केलर की स्थापना की थी उन्हें 79 वें स्थान पर लिस्ट में जगह मिली है। उनके और उनके परिवार के सदस्यों के पास नैस्डैक-सूचीबद्ध फर्म का 42 प्रतिशत हिस्सा है, जो मार्च 2018 में सार्वजनिक हुआ था।

जेस्केलर से पहले चौधरी ने चार अन्य तकनीकी कंपनियों की स्थापना सिक्योर आईटी, कोरहार्बर, सिफरट्रस्ट और एयर डिफेंस की स्थापना की थी। 1996 में चौधरी और उसकी पत्नी ने अपनी नौकरी छोड़ दी और अपने पहले स्टार्टअप सिक्योर आईटी को लॉन्च करने के लिए अपनी जीवन बचत का उपयोग किया। चौधरी 1980 में ग्रेजुएट स्कूल में पढ़ने के लिए अमेरिका चले गए थे। वह अब रेनो नेवादा में रहते हैं। 

विनोद खोसला को 181वां स्थान

5.2 बिलियन डॉलर की कुल संपत्ति के साथ विनोद खोसला (67) को 181वां स्थान मिला। उनकी फर्म, खोसला वेंचर्स, बायोमेडिसिन और रोबोटिक्स जैसी प्रायोगिक तकनीकों में निवेश करती है। खोसला ने 1982 में एंडी बेचटोल्शिम, बिल जॉय और स्कॉट मैकनेली के साथ कंप्यूटर हार्डवेयर फर्म सन माइक्रोसिस्टम्स की सह-स्थापना की थी।

रोमेश टी. वाधवानी (67), सिम्फनी टेक्नोलॉजी ग्रुप के संस्थापक और अध्यक्ष 5.1 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ 196 वें स्थान पर थे। उन्होंने संभावित सार्वजनिक पेशकश के लिए फर्म को तैयार करने के लिए 2022 की शुरूआत में सिम्फनीएआई के सीईओ के रूप में पद छोड़ दिया। वह कंसर्टएआई के अध्यक्ष भी हैं, एक एआई कंपनी जो स्वास्थ्य और जीवन विज्ञान पर केंद्रित है, जिसका मूल्य मार्च 2022 में उद्यम पूंजी निवेशकों द्वारा 1.9 बिलियन डॉलर था।

भारत की सबसे बड़ी कंपनी

3.7 बिलियन डॉलर की कुल संपत्ति के साथ एयरलाइन के दिग्गज राकेश गंगवाल (69) ने इंटरग्लोब एविएशन से अपना भाग्य बनाया, जो बजट एयरलाइन इंडिगो की मूल कंपनी है। यह बाजार हिस्सेदारी के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी कंपनी है।

उन्होंने 1984 में यूनाइटेड एयरलाइंस के साथ अपना एयरलाइन करियर शुरू किया और यूएस एयरवेज ग्रुप को इसके मुख्य कार्यकारी और अध्यक्ष के रूप में चलाया। गंगवाल ने 2006 में राहुल भाटिया के साथ इंडिगो की स्थापना एक विमान के साथ की थी। मियामी निवासी, जो सूची में 261 वें स्थान पर है, कंपनी के करीब 37 प्रतिशत का मालिक है।

Latest Business News

window.addEventListener('load', (event) => { setTimeout(function(){ loadFacebookScript(); }, 7000); });



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *