Stock Market में टूटा तेजी का दौर, दो दिन बाद सेंसेक्स 152 अंक टूटा, जानिए गिरावट के कारण

stock Market- India TV Hindi News
Photo:FILE stock Market

भारतीय शेयर बाजार में बीते दो दिन से जारी बुलरन यानि तेजी आज टूट गई। बुधवार को शेयर बाजार के दोनों महत्वपूर्ण सूचकांक में गिरावट दर्ज की गई है। आज के कारोबार में बीएसई सेंसेक्स 151.60 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 45.80 अंक यानी 0.25 प्रतिशत की गिरावट के साथ 18,157 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के तीस शेयरों में से 22 नुकसान में रहे। घरेलू शेयर बाजार मंगलवार को गुरु नानक जयंती के मौके पर बंद था। 

बाजार के जानकारों के अनुसार दुनिया भर के बाजारों में मंदी का असर आज के कारोबार में भी देखने को मिला और सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही गिरावट के साथ बंद हुए। आज बाजार की शुरुआत तेजी के साथ हुई लेकिन मार्केट क्लोजिंग तक आते आते बाजार की तेजी बरकरार नहीं रह पायी। कारोबारियों के अनुसार, हालांकि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में तेजी और विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने से गिरावट पर कुछ अंकुश लगा। 

आज कैसा रहा बाजार में कारोबार 

आज के कारोबार की बात करें तो तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 151.60 अंक यानी 0.25 प्रतिशत टूटकर 61,033.55 अंक पर बंद हुआ। सूचकांक में कारोबार के अंतिम घंटे में तेज उतार-चढ़ाव देखा गया। कारोबार के दौरान सेंसेक्स ऊंचे में 61,447.23 अंक तक चढ़ा और नीचे में 60,905.15 अंक तक आया। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 45.80 अंक यानी 0.25 प्रतिशत की गिरावट के साथ 18,157 अंक पर बंद हुआ। 

इन शेयरों में रहा नफा नुकसान 

सेंसेक्स के शेयरों में पावरग्रिड को सबसे ज्यादा 4.06 प्रतिशत का नुकसान हुआ। इसके अलावा टेक महिंद्रा, सन फार्मा, बजाज फिनसर्व, एनटीपीसी, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा और मारुति सुजुकी भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहे। इसके उलट आईटीसी, डॉ.रेड्डीज, कोटक महिंद्रा बैंक, एचसीएल टेक, इंडसइंड बैंक और एसबीआई लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं। इनमें 1.99 प्रतिशत तक की तेजी रही। 

क्या कहते हैं बाजार के जानकार

  • रेलिगेयर ब्रोकिंग लि.के उपाध्यक्ष अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहा और दोनों मानक सूचकांक-सेंसेक्स और निफ्टी मामूली नुकसान में रहे। ज्यादातर क्षेत्र सूचकांकों के अनुरूप रहे और स्थिर या मामूली नुकसान में बंद हुए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हाल में बाजार की गतिविधियों से पता चलता है कि वैश्विक मोर्चे पर मिले-जुले संकेतों को लेकर बाजार प्रतिभागी सतर्क हैं। हालांकि, सोच-विचाकर विभिन्न क्षेत्रों में लिवाली से बाजार में तेजी जारी है।’’ 
  • जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बाजार को अब अमेरिका में बृहस्पतिवार को घोषित होने वाली खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़े से दिशा मिलेगी। अनुमान के आधार पर अक्टूबर में इसके कुछ कम होकर 7.9 प्रतिशत रहने की संभावना है जो सितंबर में 8.2 प्रतिशत थी। मुद्रास्फीति में तेजी से गिरावट से बाजार को गति मिलेगी।’’ बीएसई मिडकैप (मझोली कंपनियों) सूचकांक 0.52 प्रतिशत घटा जबकि बीएसई स्मॉलकैप (छोटी कंपनियों) 0.33 प्रतिशत नीचे आया। 

विदेशी बाजारों में भी मंदी 

एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्की और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे जबकि दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहा। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरुआती कारोबार में गिरावट का रुख था। अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.67 प्रतिशत की गिरावट के साथ 94.72 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 42 पैसे चढ़कर 81.50 (अस्थायी) पर बंद हुआ। 

FII की खरीदारी जारी

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल बने हुए हैं और उन्होंने सोमवार को 1,948.51 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।

Latest Business News

window.addEventListener('load', (event) => { setTimeout(function(){ loadFacebookScript(); }, 7000); });



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *