बाइक में Ring लाइट और Blinker लाइट कहां से लगवाएं? जानिए ये लगाना Legal है या illegal

Bike news, Scooter, - India TV Hindi News
Photo:PEBBLE बाइक में Ring लाइट और Blinker लाइट कहां से लगवाएं?

ज्यादातर युवा वर्ग के लोग बाइक और कार खरीदने के बाद इसमें अलग से लाइट सीट और कई ऐसी मॉडिफिकेशन करवा लेते हैं जिसके बारे में उन्हें पता नहीं होता कि आखिर यह Legal है या illegal। बाइक मॉडिफाई करवाने के बाद इसकी खूबसूरती तो बढ़ जाती है। लेकिन इससे बहुत बड़ा नुकसान भी हो सकता है। बाइक में रिंग लाइट और Blinker लगवाने के बाद रात में यह दूर से ही चमक मारती है। इससे एक अलग तरह की पहचान तो बन जाती है, लेकिन ट्रैफिक पुलिस इन लोगों को देखते ही चालान कर देती है। 

Ring लाइट और Blinker लाइट क्या होता है?

रिंग लाइट गोल आकार का एक एलईडी लाइट होता है। इसे बाइक और कार की हेड लाइट में लगाते हैं। इससे लाइट की रोशनी बढ़ जाती है। अलग-अलग आकार और रंग में रिंग लाइट उपलब्ध है। इसे अलग से लगवा सकते हैं। ब्लिंकर लाइट का इस्तेमाल ज्यादातर बाईकर करते हैं। जिससे बाइक के पीछे और आगे दोनों ही साइड में लगा सकते हैं। ब्रेक जाने पर यह लाइट जल्दी और बुझती है। अलग-अलग रंग और आकार में यह उपलब्ध है। इसकी रोशनी के कारण दूर से ही बाइक की पहचान हो जाती है। 

कहां से लगवाएं Ring लाइट और Blinker लाइट

रिंग लाइट और बिल्डिंग कर लाइट ऑनलाइन उपलब्ध है। इसे ऑफलाइन किसी भी बाइक मैकेनिक से लगवा सकते हैं। रिंग लाइट की कीमत की शुरुआत 1500 रुपये से होती है। ऑनलाइन अमेजन पर कई रिंग लाइट उपलब्ध है जिसे खरीदने के बाद आप खुद से भी बाइक में लगा सकते हैं। इसके अलावा ब्लिंकर लाइट की कीमत की शुरुआत 300 रुपये से होती है। कुछ लोग हेलमेट के पीछे भी एलईडी ब्लिंकर लाइट लगा लेते हैं। इसे अब केवल 150 रुपये में खरीद सकते हैं। 

बाइक में अलग से लाइट लगवाना Legal है या illegal

कुछ लोग मैकेनिक की बातों में आकर बाइक में अलग से एलईडी लाइट और ब्लिंकर लाइट तो लगवा लेते हैं लेकिन इससे उन्हें आगे चलकर नुकसान सहना पड़ता है। ट्रैफिक पुलिस देखते ही चालान कर देती है। हमारे देश में बाइक कार या फिर किसी भी वाहन में किसी भी तरह का बदलाव करना illegal है। बाइक और कार के साथ मिलने वाली लाइट का ही इस्तेमाल करें। अगर आप भी अलग से कोई गैजेट्स बाइक में लगवाते हैं तो इससे आपको भारी नुकसान हो सकता है।

Latest Business News





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *