मैच फिक्सिंग क्यों करते हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी, पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने किया बड़ा खुलासा

Pakistan Cricket, Javed Miandad- India TV Hindi News

Image Source : GETTY IMAGES
Pakistan Cricket, Javed Miandad

टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पाकिस्तान को मिली हार के बाद सभी पाकिस्तानी फैंस काफी निराश है। फाइनल में उन्हें इंग्लैंड के हाथों 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच को लेकर पाकिस्तान के कई पूर्व खिलाड़ियों ने बड़े-बड़े दावे किए थे। मैच के बाद ये सभी दावे मानों खोखले निकल गए। इस मैच में पाकिस्तान की हार के बाद पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को लेकर बड़ी बात कही है।

पाकिस्तान कि हार के बाद एक टीवी चैनल पर जावेद मियांदाद ने बड़ा बयान दे दिया है। उन्होंने इस बात का खुलासा करते हुए कहा कि पाकिस्तानी खिलाड़ी मैच क्यों फिक्स करते हैं। जावेद मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान के लिए खेलने वाले खिलाड़ियों को इस बात डर रहता है कि आगे चलकर उनके करियर को खतरा हो सकता है। इसी वजह से वह मैच फिक्स करते है। 

क्या बोले जावेद मियांदाद

उन्होंने कहा कि ‘अपने लोगो को देखिए। जो आज क्रिकेट खेली रहे हैं। मुझे बहुत से ऑफर आते हैं पर मैं नहीं जाता। ये जो खिलाड़ी खेल रहे हैं। आज ये खेल रहे हैं, लेकिन इनका फ्यूचर क्या हैं? उनको भी पता है कि आज मैंने कुछ नहीं किया तो कल मैं क्या करूंगा? फिक्सिंग इसी वजह से हुई थी। सब को डर था कि कही उनका करियर खत्म ना हो जाए।’ उन्होंने ये बात इस वजह से कही क्योंकि पीसीबी पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ियों को नेशनल टीम में कोच नहीं बनता है। मौजूदा समय में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी मैथ्यू हेडन पाकिस्तान के मेंटर हैं। आज के समय में पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ियों के पास काम की कमी भी है। 

क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैच फिक्सिंग के मामलों में पाकिस्तान के ही खिलाड़ियों का नाम आता हैं। साल 2009 में हुए मैच फिक्सिंग में कई पाकिस्तानी खिलाड़ियों का नाम आया था। उस वक्त से आज तक ये मामला पीसीबी के लिए किसी दाग सा बन गया है।

Latest Cricket News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *