दिल्ली की आयुषी यादव की थी लाल सूटकेस में मिली लाश, मारकर यमुना एक्सप्रेसवे पर फेंका था

ayushi yadav- India TV Hindi News

Image Source : FILE PHOTO
मृतका आयुषी का फाइल फोटो

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे की एक सर्विस लेन के पास शुक्रवार को सूटकेस में जिस लड़की का शव मिला था, उसकी पहचान दिल्ली के बदरपुर की निवासी के रूप हुई है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की की पहचान 21 वर्षीय आयुषी यादव के रूप में हुई है। अधिकारी ने कहा, उसकी मां को शवगृह में बुलाया गया और शव की शिनाख्त की गई।

17 नवंबर को घर से निकली थी आयुषी

आयुषी यादव मूल रूप से यूपी के गोरखपुर की रहने वाली थी, लेकिन वह अपने परिवार के साथ दिल्ली के बदरपुर थाना क्षेत्र के मोलड़बंद क्षेत्र में रह रही थी। के पिता नितेश यादव इलेक्ट्रीशियन का काम करते हैं। पुलिस मृतका के माता-पिता और भाई से भी पूछताछ कर रही है। 17 नवंबर की सुबह वह अपने घर से निकली थी उसके बाद परिजन अपने स्तर पर आयुषी की तलाश कर रहे थे। यूपी पुलिस ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत FIR दर्ज की है। आरोपियों की पहचान कर उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस की एक विशेष टीम गठित की गई है।

फिलहाल पुलिस हत्या के पीछे के मकसद के बारे में निश्चित नहीं है। वह पीड़िता के कॉल डिटेल रिकॉर्ड को खंगाल रहे हैं और हाईवे पर लगे सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि वह दिल्ली से मथुरा कैसे पहुंची। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “हमने एक मामला दर्ज किया है और हमारे सबसे अच्छे अधिकारी मामले को सुलझाने के लिए काम कर रहे हैं।”

red suitcase

Image Source : TWITTER

लाल सूटकेस में मिली थी लड़की की लाश

झाड़ियों में पड़े ट्रॉली बैग से रिस रहा था खून

बता दें कि 18 नवंबर शुक्रवार को यमुना एक्सप्रेस-वे के पास सूटकेस में एक लड़की का शव मिलने से हड़कंप मच गया था। एक्सप्रेस-वे पर राया कट की सर्विस रोड पर दोपहर में कुछ मजदूरों ने झाड़ियों में लाल रंग का सूटकेस देखा। नया ट्रॉली बैग देखकर मजदूरों को लगा कि किसी कार की डिग्गी से गिर गया होगा लेकिन, जब पास जाकर देखा तो उसमें से खून रिस रहा था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ट्रॉली सूटकेस को खोलकर देखा तो उसमें युवती का शव देखकर क्षेत्र में हडकंप मच गया था। युवती के सीने में गोली मारकर हत्या की गई। शरीर पर चोट के कई निशान हैं जिससे लग रहा है कि हत्या से पहले लड़की ने खुद को बचाने की बहुत कोशिश की। पुलिस को लग रहा था कि ये हत्या कहीं और की गई फिर शव को लाल कलर के ट्रॉली बैग में एक पॉलिथीन में बंद कर यहां लाकर फेंक दिया गया।

लड़की की शिनाख्त के किए जा रहे प्रयास

पुलिस लड़की की सभी से पहचान में जुट गई थी। उसकी शिनाख्त के लिए उसके फोटो जिले के थाने के साथ-साथ अन्य जिलों के थानों में सर्कुलेट कर दी गई थी। एसपी देहात त्रिगुण बिसेन ने बताया था कि पुलिस की कई टीमें मृतक लड़की की शिनाख्त और हत्यारों को पकड़ने के लिए लगाई।

By Ashish Borkar

“l still believe that if your aim is to change the world, journalism is a more immediate short-term weapon.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *