Gujarat Vidhan Sabha Chunav 2022: गरबाडा सीट बीजेपी के लिए अहम चुनौती, क्या इस बार कांग्रसे को दे पाएगी शिकस्त?

बीजेपी के लिए चुनौती- India TV Hindi

Image Source : PTI
बीजेपी के लिए चुनौती

गुजरात में चुनावी पारा हाई है। बीजेपी से लेकर सभी पार्टियां अपनी सारी शक्तियां झोंक दी है। बीजेपी के पास चुनौती है कि फिर से सत्ता में बरकरार रहना तो वहीं कांग्रसे को डूबते हुए अस्तित्व को बचाना। इसके इत्तर आम आदमी पार्टी भी बड़े-बड़े दावें कर रही है। भारत के प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में लगातार जनसभाएं कर रहे हैं। ये चुनाव पीएम मोदी के लिए बेहद खास है। ऐसे में बीजेपी कोई भी कसर नहीं छोड़ना नहीं चाहती है। वहीं आज हम आपको गरबाडा विधानसभा सीट के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां पर कांग्रेस ने 2017 में अपनी जीत दर्ज की थी।

चुनाव की तारीख क्या है?

गुजरात में मतदान दो चरणों में होगा।  1 दिसंबर को प्रथम चरण का चुनाव होना है और दूसरे चरण का मतदान 5 दिसंबर को होगा। वहीं 8 दिसंबर को मतों की गिनती होगी। इस बार बीजेपी समेत सभी पार्टियों की नजर हर सीट पर है। बीजेपी चाहती है कि 2017 में जो सीटे अपने पाले में रखी थी वो अपने पास से नहीं जाने दें। इसके अलावा बीजेपी की नजर है कि कैसे भी करके गरबाडा विधानसभा सीट पर अपनी जीत दर्ज करें। 

बीजेपी के लिए चुनौती
गरबाडा सीट को हॉट सीटों में गिनती की जाती है। फिलहाल ये सीट कांग्रेस के कब्जे में है। बीजेपी की कोशिश है कि इस बार सीट अपनी परचम को लहराए जाए लेकिन ये तय तो जनता करने वाली है कि आखिर इस बार किसके हाथ गरबाडा की कुर्सी लगेगी। साल 2017 में यहां पर कांग्रेस के नेता बारीया चंद्रीकाबने छगनभाई को 64,280 वोट मिले थे तो वहीं बीजपी के उम्मीदवार भाभोर महेन्द्रआई रमेशभाई दूसरे स्थान पर रहें, इन्हें 48,152 हजार वोट प्राप्त हुए थे। जानकारी के मुताबिक, इस सीट पर 2012 में भी कांग्रेस ने ही जीत दर्ज की थी। अब देखना दिलचस्प होगा कि 2022 में क्या बीजेपी के उम्मीदवार  शैलशभाई भाभोर चंद्रिका बारैया को हराने में कामयाब हो पाते हैं या नहीं। गरबाडा सीट गुजरात के दहोद जिले में आती है। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन





Source link

By Ashish Borkar

“l still believe that if your aim is to change the world, journalism is a more immediate short-term weapon.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *