भिलाई।भिलाई नगर निगम के कैंप-2 क्षेत्र में डायरिया का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को डायरिया से दो लोगों की मौत हो गई है,जबकि 42 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। पूरी घटना की जानकारी मिलते ही निगम कमिश्नर रोहित ब्यास, कलेक्टर,CMHO, महापौर समेत कई अधिकारी मरीजों से मिलने अस्पताल पहुंचे हैं।

बताया जा रहा है कि यह निगम की लापरवाही के चलते हुआ है। यहां के लोग काफी समय से जोन आयुक्त से गंदा पानी आने की शिकायत कर रहे थे, लेकिन जोन आयुक्त ने उनकी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया। इससे लोग डायरिया की चपेट में आ गए और दो लोगों की मौत हो गई है।भिलाई नगर निगम की लचर व्यवस्था के चलते कैंप 2 क्षेत्र में हाहाकार मचा हुआ है। मरने वालों में घासीदार नगर कैंप 2 निवासी कुश डहरिया (32 साल) और आदर्श नगर कैंप 2 निवासी एम माधवी (12 साल) के नाम शामिल हैं। अब भी 42 लोग डायरिया की चपेट में हैं। सभी को गंभीर हालत के चलते अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक महिला-पुरुष शामिल हैं। सीएमएचओ दुर्ग जेपी मेश्राम ने डायरिया से मौत की पुष्टि कर दी है।

निगम के स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने डायरिया से मौत होने की पुष्टि नहीं की है। सीएमएचओ डॉ. मेश्राम का कहना है कि जेपी नगर कैंप 2 क्षेत्र में गंदे पानी की वजह से डायरिया फैला है। वहां के हालात काफी खराब हैं। कैंप लगाया जा रहा है। टीम को भेजा गया है। लोगों की जांच कर उन्हें दवा वितरित की जा रही है। एक दर्जन से अधिक लोग अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं निगम के स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा ने इस मामले में कोई भी जानकारी होने से मना किया है। उनका कहना है कि, उन्हें आज ही इस बारे में जानकारी मिली है। गंदे पानी की शिकायत भी आज ही पता चली है। जोन कमिश्नर के पास शिकायत आई होगी तो उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी है। इस सबके लिए वही जिम्मेदार हैं।

इस तरह हुई दो मौतें
जानकारी के मुताबिक घासीदास नगर निवासी कुश डहरिया को 22 नवंबर से उल्टी दस्त की शिकायत हुई थी। उसकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई। इससे घरवालों ने उसे 23 नवंबर बुधवार को सुबह 6 बजे सिविल अस्पताल सुपेला में भर्ती कराया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं आदर्श नगर निवासी माधवी को भी 22 नवंबर को उल्टी दस्त की शिकायत हुई थी। परिजन उसे बीएम शाह हॉस्पिटल ले गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

डायरिया प्रभावित क्षेत्र पहुंची निगम की टीम

इन क्षेत्रों में फैला डायरिया
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बैकुंठधाम, शारदा पारा, जेपी नगर, वृंदा नगर सहित कैंप 2 के कई क्षेत्रों में डायरिया फैला हआ है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां के 300 घरों का सर्वे करके क्लोरीन की टेबलेट बांटी है।

प्रभावित इलाकों में अब हेल्थ कैंप
मौत और कई लोगों के भर्ती हो जाने के बाद अब नगर निगम के अधिकारियों ने हेल्थ कैंप लगाने की बात कही है। अधिकारियों ने कहा है कि सभी प्रभावित इलाकों में तत्काल सर्वे शुरू कराया गया है। इसमें घर-घर जाकर लोगों से जानकारी ली जाएगी कि उनके परिवार में कोई बीमार तो नहीं है। इसके साथ ही मोहल्लों में डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों की टीम तैनात रहेगी। जिससे तुरंत चेकअप कर इलाज चालू किया जा सके। दवाओं का मुफ्त वितरण किया जाएगा और जिसकी भी हालत गंभीर होगी उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।

By Gopi Soni

Never stop learning, because life never stops teaching

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *