पति और बेटे के साथ पहली बार ‘भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुईं प्रियंका, भाई राहुल का बढ़ाया हौसला

rahul gandhi priyanka gandhi- India TV Hindi

Image Source : TWITTER
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी

बोरगांव (मध्य प्रदेश): राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में आज प्रियंका गांधी वाड्रा भी भाई राहुल का साथ देती नजर आई। कांग्रेस के उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अपने पति और बेटे के साथ पहली बार इस यात्रा में शामिल हुईं। कर्नाटक में मां सोनिया गांधी यात्रा का हिस्सा बनी थीं लेकिन मध्य प्रदेश में अब प्रियंका गांधी अपने भाई राहुल गांधी का साथ देती हुई नजर आईं। मध्य प्रदेश में इस यात्रा के दूसरे दिन राहुल ने खंडवा जिले के बोरगांव से पैदल चलना शुरू किया। यात्रा में प्रियंका के साथ उनके पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान भी पैदल चलते दिखाई दिए।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने की भाई-बहन के समर्थन में नारेबाजी

राहुल जब पदयात्रा पर निकलते हैं तो सड़क के दोनों ओर पुलिस कर्मी उनकी सुरक्षा के लिए रस्सियों का सुरक्षा घेरा बनाकर साथ चलते हैं। प्रियंका के यात्रा में शामिल होने के बाद कांग्रेस के उत्साहित कार्यकर्ता भाई-बहन के समर्थन में नारेबाजी करते हुए उनके करीब आने की बार-बार कोशिश करते दिखाई दिए। उन्हें सुरक्षित घेरे से दूर करने के लिए पुलिस कर्मियों को अतिरिक्त मशक्कत करनी पड़ी। बहरहाल, सूर्योदय के बाद जब बोरगांव से यात्रा ने मध्य प्रदेश में अपने दूसरे दिन में प्रवेश किया तो पहले दिन के मुकाबले भीड़ कम नजर आई, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें लोगों और गाड़ियों का काफिला बढ़ता गया।

sachin pilot rahul gandhi priyanka gandhi

Image Source : TWITTER

सचिन पायलट, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी

राहुल और प्रियंका के साथ कदमताल करते दिखाई दिए पायलट
बहरहाल, सूर्योदय के बाद जब बोरगांव से यात्रा ने मध्य प्रदेश में अपने दूसरे दिन में प्रवेश किया तो पहले दिन के मुकाबले भीड़ कम नजर आई, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें लोगों और गाड़ियों का काफिला बढ़ता गया।इस बीच, राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी यात्रा में राहुल और प्रियंका के साथ कदमताल करते दिखाई दिए।

4 दिसंबर को राजस्थान में एंट्री करेगी भारत जोड़ो यात्रा
गौरतलब है कि राहुल नीत ‘भारत जोड़ो यात्रा’ मध्य प्रदेश में 380 किलोमीटर का फासला तय करने के बाद 4 दिसंबर को राजस्थान में प्रवेश करेगी। पायलट पड़ोसी मध्य प्रदेश में ऐसे समय में यात्रा में शामिल हुए, जब यात्रा के राजस्थान पहुंचने से पहले इस कांग्रेस शासित राज्य में नेतृत्व में बदलाव की मांग एक फिर जोर पकड़ने लगी है। पूर्व उप मुख्यमंत्री के समर्थकों ने मुख्यमंत्री पद के लिए उनके नाम को लेकर दबाव बनाना शुरू कर दिया है।

13 दिन तक मध्य प्रदेश में राहुल की यात्रा
यात्रा अगले 13 दिनों के दौरान मध्य प्रदेश के तीन क्षेत्रों क्रमश मालवा (इंदौर, उज्जैन), निमाड़ (बुरहानपुर खंडवा, खरगोन), मध्य भारत के हिस्से आगर और सुसनेर जिलों को कवर करेगी। इन तीनों क्षेत्रों के सामाजिक और आर्थिक मुद्दे एक दूसरे से अलग हैं। इनमें कुछ जगहों पर किसानों, आदिवासियों और कुछ अन्य हिस्सों में छोटे कारोबार, बेरोजगारी जैसे मुद्दे हैं। यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी कई समुदाय के लोगों से मिलेंगे और उनके मुद्दों को सुनिए। राहुल गांधी उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर जैसे धार्मिक स्थलों का दौरा करने के अलावा खंडवा में आदिवासी नेता टंट्या भील के जन्मस्थान पर भी पहुंचेंगे।

Latest India News

window.addEventListener('load', (event) => { setTimeout(function(){ loadFacebookScript(); }, 7000); });



Source link

By Ashish Borkar

“l still believe that if your aim is to change the world, journalism is a more immediate short-term weapon.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *