बिलासपुर। तोरवा क्षेत्र के बूटापारा से जिले में आनलाइन सट्टा संचालित किया जा रहा था। इसका मुख्य आरोपित दुर्ग में बैठकर पूरे गैंग को आपरेट कर रहा था। सूचना पर पुलिस और एसीसीयू की टीम ने मौके पर दबिश देकर दो लाख 47 हजार स्र्पये नकद, छह लैपटाप, 10 मोबाइल जब्त किया गया है। बूटापारा के एक मकान से आनलाइन सट्टा चलाने की जानकारी मिली। इस पर पुलिस और एसीसीयू की टीम ने मौके पर दबिश देकर युगल साहू(26) निवासी जरहागांव बजारपारा, चंदन साहू(26) निवासी धरमपुरा जिला मुंगेली और हेमराज निषाद(24) निवासी ग्राम अरसी थाना बोरी जिला दुर्ग को हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने उनके कब्जे से लैपटाप और मोबाइल जब्त किया। पूछताछ में इनके सरगना युगल ने बताया कि दुर्ग जिले के ग्राम लिटिया में रहने वाले मनीष सोनवानी(23) ने उन्हें सट्टा चलाने के लिए लैपटाप और आइडी दिया है। मनीष दुर्ग में आनलाइन सट्टा चलाता है। इसके अलावा वह अन्य युवकों से भी सट्टे का काम कराता है। इस पर पुलिस की टीम ने दुर्ग में दबिश देकर आरोपित मनीष को गिरफ्तार किया। उससे मिली जानकारी के आधार पर चिरंजीव निषाद(22) निवासी दबलघोर थाना बेरला जिला बेमेतरा, अनिल कुमार निषाद(24) निवासी ग्राम अरसी जिला दुर्ग व खोमलाल वर्मा(19) निवासी ग्राम लिटिया जिला दुर्ग को पकड़ लिया। आरोपित युवकों के कब्जे से दो लाख 47 हजार स्र्पये नकद, छह लैपटाप, 10 मोबाइल जब्त किया गया है। उनके खिलाफ जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

बैंक में जमा रकम सीज कराने लिखा गया पत्र तोरवा थाना प्रभारी फैजुल शाह ने बताया कि मुख्य आरोपित मनीष से बैंक खातों की भी जानकारी ली गई है। उसके एक अकाउंट में एक लाख पांच हजार स्र्पये जमा है। इसे सीज कराने के लिए बैंक प्रबंधन को पत्र लिखा गया है। इसके अलावा उसके अन्य अकाउंट की भी जानकारी जुटाई जा रही है। इससे उसके गैंग से जुड़े लोगों की जानकारी मिल सकेगी।

By Gopi Soni

Never stop learning, because life never stops teaching

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *