अब Apple भी Manchester United को खरीदने के लिए तैयार, कंपनी ने कर ली है पूरी तैयारी

Manchester United Apple- India TV Hindi

Image Source : GETTY
Manchester United Apple

Manchester United: इंग्लैंड के बड़े फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड की लंबे समय से बिकने की खबरें सामने आ रही हैं। हाल ही में भारत के अरबपति मुकेश अंबानी ने भी इस क्लब को खरीदने की इच्छा दिखाई थी। वहीं इसी बीच अब एप्पल कंपनी की भी इस क्लब की नजरें टिक चुकी हैं। 

एप्पल की युनाइटेड पर नजरें

कैलिफोर्निया स्थित टेक जायंट एप्पल और दुनिया के 19वें सबसे अमीर आदमी और स्पेनिश अरबपति अमानसियो ओर्टेगा ने कथित तौर पर प्रसिद्ध अंग्रेजी फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड को खरीदने के लिए अपनी दिलचस्पी दिखाई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनी, ग्लेजर्स के मालिकों से संभावित 5.8 बिलियन पाउंड के अधिग्रहण के साथ मैनचेस्टर युनाइटेड को अपने पोर्टफोलियो में शामिल करना चाहती है।

जल्द लिया जा सकता है फैसला

मैनचेस्टर इवनिंग न्यूज ने विस्तृत रूप से बताया है कि ओर्टेगा ने युनाइटेड को खरीदने में अपनी रुचि दिखाते हुए ओल्ड ट्रैफर्ड के अधिकारियों से पहले ही बात कर ली है। इससे पहले, यह पुष्टि की गई है कि अमेरिकी परिवार द्वारा रेड डेविल्स को खरीदने के 17 साल बाद ग्लेजर्स ने क्लब को बेचने का फैसला किया है। ग्लेजर्स ने 2005 में युनाइटेड को खरीदा था, लेकिन बाद में असफल यूरोपीय सुपर लीग प्रस्ताव में क्लब की भागीदारी और उसके बाद हुई आलोचना के मद्देनजर बेहद अलोकप्रिय हो गया।

पहले लगेगी बोली

मैनचेस्टर यूनाइटेड ने एक बयान में घोषणा की है कि मालिक ‘रणनीतिक विकल्प’ तलाश रहे थे और यह समझा जाता है कि वे उच्चतम बोली लगाने वाले को बेच देंगे। डेली स्टार की रिपोर्ट में बताया गया कि ग्लेजर्स ने शुरू में 8.25 अरब पाउंड की एक कीमत निर्धारित की थी, लेकिन कहा गया है कि यह मौजूदा बाजार में अवास्तविक है। डेली स्टार के अनुसार, एप्पल के मालिकों ने यूनाइटेड को खरीदने के लिए एक संभावित सौदे पर चर्चा करने में रुचि व्यक्त की है।

हालांकि, एप्पल के पास युनाइटेड के आकार के फुटबॉल क्लब के मालिक होने का कोई अनुभव नहीं है, हालांकि सीईओ टिम कुक उन अवसरों का पता लगाने के लिए उत्सुक हैं, जो युनाइटेड के मालिक प्रदान कर सकते हैं। वह बिक्री की देखरेख के लिए नियुक्त बैंकों के साथ बातचीत करेंगे, जिसमें द राइन ग्रुप भी शामिल है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *