रायपुर।रायपुर के रिहायशी इलाकों में कुछ औरतें भिखारी बनकर भटका करती थीं। मौका पाकर लोगों के घरों से कैश और गहने पार कर दिया करती थीं। अब ये शातिर औरतें पुलिस के हत्थे चढ़ी हैं। पूछताछ में पता चला है कि इनका पूरा परिवार इसी काम में लगा रहता है। यहां तक पति और बच्चे भी। हाल ही में इस गैंग ने रायपुर के कोटा इलाके की टीचर्स कॉलोनी में चोरी की थी।

शुक्रवार को इस गैंग के आरोपियों को पकड़ने के बाद सिटी एसपी अभिषेक माहेश्वरी ने खुलासा किया। अधिकारियों ने बताया कि ये गैंग ओडिशा से रायपुर आकर स्टेशन के बाहर रह रहा था। वहीं रात बिताया करता था, इसके बाद शहर के अलग-अलग इलाकों में जाकर रेकी किया करते थे। कहीं सूना मकान मिले या कोई दरवाजा खुला मिल जाए तो वहां से चोरियां करते थे।

सरकारी कर्मचारी के घर से उड़ाए थे रुपए
CSEB के औषधालय में रजिस्ट्रार का काम करने वाले लखपति सिंदूर के घर इस गैंग ने कैश चुराया था। लखपति अपनी पत्नी के साथ माना गए थे। घर का दरवाजा खुला था, अंदर इनके बच्चे पढ़ रहे थे। दबे पांव इस गैंग की महिलाएं और बच्चे अंदर गए 80 हजार रुपए कैश चुराकर भाग गए।

एक को खोजा तो दूसरा चोर भी मिला
पुलिस की टीम ने इस कांड के बाद CCTV फुटेज जांचे। मुखबीरों से इनपुट मिला। पुलिस को पता लगा कि इन महिलाओं के साथ ओडिशा से आए एक बदमाश युवक राहुल मल्हार को देखा गया था। राहुल को पुलिस की टीम ने पकड़ लिया। पता चला कि राहुल की पत्नी अंजू मल्हार एवं उसकी साथी रूपा मल्हार से चोरियां की हैं। ये दोनों महिलाएं भी पकड़ ली गईं। इनके पास से 51 हजार रुपए मिले। महिलाओं के साथ उदय मल्हार अरेस्ट हुआ ये रूपा का पति है। इसके पास से चोरी की सोने की अंगूठी और चांदी की पायल मिली। ये सभी झारसुगुड़ा के रहने वाले हैं।

By Gopi Soni

Never stop learning, because life never stops teaching

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *