75 घंटे तक काम करने वाली इस Twitter Employee की आपबीती सुन आंखों से आ जाएंगे आंसू, 27 अक्टूबर के बाद आई ये नौबत

75 घंटे तक काम करने वाली इस Twitter Employee की आपबीती- India TV Hindi
Photo:FILE 75 घंटे तक काम करने वाली इस Twitter Employee की आपबीती

Elon Musk ने जब से ट्विटर खरीदा है। ट्विटर में लगातार बदलाव हो रहे हैं। कभी कंपनी से कर्मचारियों को निकाला जा रहा है तो कभी ब्लू टिक वेरिफिकेशन के लिए नए नियम बनाए जा रहे हैं। मस्क ने कंपनी में एक टॉक्सिक माहौल क्रिएट कर दिया है। एक महिला कर्मचारी ने हफ्ते में 75 घंटे तक काम करने की अपनी दर्दनाक कहानी बताई है। 

हफ्ते में 75 घंटे काम

सिनैड मैकस्वीनी ने आयरलैंड के उच्च न्यायालय को दिए एक बयान में कहा कि अरबपति के कार्यभार संभालने के बाद से एक सप्ताह में उनके काम के घंटे बढ़कर 75 से अधिक हो गए हैं। बता दें, बाद में ट्विटर ने उसे भी बाहर का रास्ता दिखा दिया था। मैकस्वीनी सार्वजनिक नीति के लिए ट्विटर की वैश्विक उपाध्यक्ष थी।

मैकस्वीनी ने कहा कि उसने 16 नवंबर को ट्विटर कर्मचारियों को मस्क के आधी रात के ईमेल का जवाब नहीं दिया था, जिसमें कर्मचारियों को बताया गया था कि उन्हें या तो ईमेल में दिए गए एक फॉर्म में हां पर क्लिक करके “बेहद कट्टर” माहौल के लिए सहमत होना होगा, या फिर कंपनी उनका इस्तीफा स्वीकार कर लेगी। 

मस्क ने एक ट्वीट करने पर ट्विटर के कर्मचारी को कर दिया था बाहर

ट्विटर स्लो चलने के वजह को बताने के लिए मस्क ने ट्वीट किया जिसके बाद एरिक ने उस ट्वीट को कोट करते हुए कहा कि मैंने 6 साल काम किया, मैं कह सकता हूं कि यह गलत है। दरअसल, रविवार की देर रात ट्विटर के मालिक एलन मस्क ने एक ट्वीट किया और लिखा कि वैसे कई देशों में ट्विटर के सुपर स्लो होने के लिए मैं माफी मांगना चाहता हूं। एप ठीक काम कर रही है। मस्‍क ने अपने ट्विट में उस तकनीकी दिक्कत के बारे में भी बताया है, जिसकी वजह से ट्विटर स्‍लो हुआ है।

27 अक्टूबर को मस्क ने खरीदा ट्विटर

उन्होंने 4 अप्रैल को $44 बिलियन का अधिग्रहण शुरू किया, जब मस्क ने घोषणा की कि कंपनी में उनकी 9.2 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जिससे वे सबसे बड़े शेयरधारक बन गए। हालांकि, मई के मध्य तक मस्क ने खरीद के बारे में अपना विचार बदल दिया, इस चिंता का हवाला देते हुए कि माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर फर्जी खातों की संख्या ट्विटर के दावे से अधिक थी। इसके बाद उन्होंने घोषणा की कि वह अब 44 अरब डॉलर के सौदे के साथ आगे नहीं बढ़ना चाहते हैं। ट्विटर ने तर्क दिया कि अरबपति कानूनी रूप से कंपनी को खरीदने के लिए प्रतिबद्ध था और उसने मुकदमा दायर किया। बता दें, ट्विटर समूह ने उन्हें 27 अक्टूबर तक डील पूरी करने या फिर कानूनी कार्रवाई झेलने की डेडलाइन दी थी। 

Latest Business News

window.addEventListener('load', (event) => { setTimeout(function(){ loadFacebookScript(); }, 7000); });



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *