बेमेतरा।बेमेतरा थाना क्षेत्र के एक गांव में शनिवार को 10 वर्षीय बच्ची की लाश उसी के घर में फंदे पर लटकी मिली थी। मामले में पुलिस ने एक अपचारी बालक को पकड़ा है। जांच में जो खुलासा हुआ, वह बेहद चौकाने वाला है। पुलिस के मुताबिक अपचारी बालक ने पोर्न वीडियो देखकर बच्ची के साथ दरिंदगी की, फिर उसे मार डाला। बेमेतरा पुलिस सोमवार को अपचारी बालक को लेकर उसी घर में पहुंची, जहां ये वारदात हुई थी। क्राइम सीन रीक्रिएट कर पुलिस ने पूरे घटनाक्रम को बारीकी से समझा। पीड़ित परिजन से भी बातचीत की।

पुलिस के मुताबिक घटना 26 नवंबर की दोपहर 12 से 1 बजे के बीच की है। 10 वर्षीय लड़की (मृतका) अपने मामा की 1 साल की बेटी के साथ घर में अकेली थी। परिवार के सभी सदस्य अपने-अपने काम से बाहर गए हुए थे। घर के दरवाजे की चटकनी अंदर से लगी हुई थी। अपचारी बालक छत से कूदकर घर में घुसा और मासूम बच्ची के साथ गलत हरकत की। शोर मचाने पर मुंह बंद दिया, जिससे वह बदहवास हो गई। होश आने पर बच्ची किसी को बता न दे, इसलिए उसी के दुपट्टे का फंदा बनाया। फिर बरामदे पर लटक रहे बांस के झुलना पर बच्ची को फांसी पर लटका दिया। शव के पास प्लास्टिक की कुर्सी रख दिया था। ताकि ऐसा मालूम हो कि बच्ची अपने आप फंदे पर झूल गई।

पुलिस को ऐसे हुआ हत्या होने का शक
क्राइम सीन को देखकर ही पुलिस को हत्या का शक हुआ था। मृत बच्ची की ऊंचाई करीब 4 फीट थी, जबकि बरामदे में जिस बांस के झूलना पर उसकी लाश लटक रही थी, उसकी ऊंचाई 5 फीट 10 इंच तक थी। फंदे पर लटकी बच्ची की दोनों हथेलियां खुली हुई थी। आमतौर पर जब कोई खुद से फांसी लगाता है, तो मुट्ठी बंद या उंगलियां मुड़ी रहती हैं। इसी के आधार पर पुलिस मर्डर एंगल पर जांच में जुट गई।

बच्ची रो रही कहकर गांव के लोगों को इकट्ठा किया
वारदात के वक्त मृतका के मामा की 1 साल की बेटी घर में ही थी। अपचारी बालक ने उस बच्ची को घर के अंदर दरवाजे के पास लेटा दिया। फिर छत के रास्ते, जहां से आया था, वहीं से फरार हो गया। फिर खुद ही बच्ची के रोने की बात कहकर गांव के लोगों को इकट्ठा किया। घर में पहुंचे लोगों ने बच्ची की लाश को फंदे पर झूलता देखा,

वारदात के वक्त घर में कोई नहीं था, काम से गए हुए थे
वारदात के समय घर में कोई नहीं था। मृतका की नानी व मामी खेत में काम करने गईं थीं। नाना, मामा भी अपने अपने काम से बाहर गए थे। उक्त वक्त घर में केवल मृतका और उसके मामा की 1 साल की बेटी थी। अकेले होने के कारण बच्ची ने दरवाजे पर चटकनी अंदर से लगा दी थी।

चार डॉक्टरों की टीम ने किया शव का पोस्टमार्टम
मरच्यूरी में चार डॉक्टरों की टीम ने बच्ची के शव का पोस्टमार्टम किया। टीम में मेडिकल ऑफिसर डॉ. दीपक मिरे, डॉ. ओमप्रकाश, डॉ. अंकुश अग्रवाल और डॉ. नेहा साहू शामिल थे। प्राइवेट पार्ट्स के आसपास चोट के निशान मिले हैं। दुष्कर्म की वैज्ञानिक पुष्टि के लिए सैंपल लिए गए हैं।

जांच अभी जारी है
अपचारी बालक से पूछताछ व क्राइम सीन रीक्रिएट करने से मामले का खुलासा हुआ है। मामले की जांच अभी जारी है। – अंबर सिंह भारद्वाज, टीआई,बेमेतरा थाना

By Gopi Soni

Never stop learning, because life never stops teaching

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *