Farmer Fined 61000 Dollars For using Thumbs Up Emoji Canada Court New Law Says It Represent Contract Sign

किसान को भारी पड़ा Thumbs-Up इमोजी भेजना, कोर्ट ने लगाया 50 लाख का जुर्माना!

कनाडा में कोर्ट की ओर से एक चौंकाने वाला फैसला आया है, जहां जज ने “थम्स-अप” इमोजी को किसी कॉन्ट्रैक्ट के लिए सहमती के समान माना है। आप भी किसी से टेक्स्ट चैट करते हुए कई बार रजामंदी दिखाने के लिए थम्स-अप इमोजी भेजा होगा, लेकिन यही इमोजी कनाडा में एक किसान के लिए मुसीबत लेकर आया है। एक कनाडाई न्यायाधीश ने इस इमोजी को व्यक्ति के हस्ताक्षर के समान मानते हुए किसान को कॉन्ट्रैक्ट के उल्लंघन के लिए  61,442 डॉलर (करीब 50.7 लाख रुपये) का भुगतान करने का आदेश दे डाला। 

द गार्जियन की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि कनाडाई न्यायाधीश ने यह भी कहा है कि अदालतों को यह समझना होगा कि लोग कैसे बातचीत करते हैं और इसकी नई वास्तविकता के अनुसार समायोजन करना। रिपोर्ट बताती है कि कनाडाई प्रांत सस्केचेवान में किंग्स बेंच की अदालत ने सुना कि एक अनाज खरीदार ने मार्च 2021 में अपने ग्राहकों को एक ब्रॉडकास्ट मैसेज भेजा था, जिसमें घोषणा की गई थी कि उनकी कंपनी 12.73 डॉलर (करीब 1,051 रुपये) प्रति बुशेल की कीमत पर 86 टन फ्लैक्स सीड खरीदने की योजना बना रही है।

केंट मिकलेबोरो नाम के इस खरीदार ने किसान क्रिस एक्टर को फोन किया और उन्हें नवंबर में अनाज की डिलीवरी के लिए कॉन्ट्रैक्ट की एक तस्वीर के साथ “कृपया फ्लैक्स अनुबंध की पुष्टि करें” टेक्स्ट लिखकर भेजा। किसान ने मैसेज का जवाब थम्स-अप इमोजी के साथ दिया। 

हालांकि, इसके बावजूद किसान नवंबर तक फ्लैक्स वितरित करने में विफल रहा और उस समय तक कृषि कीमतें बढ़ गई थीं। बाद में, विवाद उस थम्स-अप इमोजी पर हुआ, जिसे खरीदार कॉन्ट्रैक्ट की रजामंदी के तौर पर ले रहा था। खरीदार का कहना है कि कॉन्ट्रैक्ट के बदले किसान द्वारा थम्स-अप इमोजी का इस्तेमाल यह दर्शाता है कि उसने कॉन्ट्रैक्ट की शर्तों को स्वीकार किया था। दूसरी ओर, किसान ने दावा किया कि इमोजी ने सिर्फ यह संकेत दिया है कि उसे मैसेज में कॉन्ट्रैक्ट मिल गया है।

एक हलफनामे में, किसान ने कहा, (अनुवादित) “मैं इस बात से इनकार करता हूं कि उन्होंने अधूरे अनुबंध के डिजिटल हस्ताक्षर के रूप में अंगूठे वाले इमोजी को स्वीकार किया था। मेरे पास फ्लैक्स अनुबंध की समीक्षा करने का समय नहीं था और मैं केवल यह बताना चाहता था कि मुझे उनका टेक्स्ट मैसेज प्राप्त हो गया है।”

न्यायमूर्ति टिमोथी ने कहा कि इमोजी “किसी दस्तावेज पर ‘हस्ताक्षर’ करने का एक गैर-पारंपरिक साधन है, लेकिन फिर भी, इन परिस्थितियों में यह हस्ताक्षर के दो उद्देश्यों को व्यक्त करने का एक वैध तरीका था।” उन्होंने दूसरे पक्ष की इस चिंता को भी खारिज कर दिया कि थम्स-अप इमोजी को मंजूरी देने की अनुमति देने से अन्य इमोजी जैसे “मुट्ठी टकराना” और “हैंडशेक” के मतलब भी बदल जाएंगे।
 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *