Headlines

Ashok Leyland grabs big order Rs 800 crore from Indian Army

मिलिट्री पर जोक मारना पड़ा भारी, लगा 16 करोड़ का जुर्माना!

Ashok Leyland को इंडियन आर्मी से बड़ा ऑर्डर मिला है। हिंदुजा ग्रुप की अशोक लेलैंड को भारतीय मिलिट्री के लिए सैन्य व्हीकल्स की सबसे बड़ी सप्लायर कहा जाता है। अब कंपनी को भारतीय सेना से 800 करोड़ रुपये का एक और ऑर्डर मिला है। यह ऑर्डर डिफेंस व्हीकल्स के लिए ही सेना की ओर से दिया गया है। आइए बताते हैं इसमें कंपनी किस तरह के मिलिट्री व्हीकल इंडियन आर्मी को उपलब्ध करवाने वाली है। 

अशोक लेलैंड को भारतीय सेना ने आर्मी व्हीकल उपलब्ध करवाने हेतु 800 करोड़ रुपये का नया ऑर्डर दिया है। इसके अंतर्गत कंपनी 4×4 फील्ड आर्टीलरी ट्रैक्टर (FAT), 6×6 गन टॉइंग व्हीकल (GTV) उपलब्ध करवाएगी। ये दोनों प्रकार के सैन्य वाहन लाइट और मीडियम गन टॉ करने के लिए मंगवाए गए हैं। अशोक लेलैंड ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इसके बारे में जानकारी दी है। कंपनी ने प्रेस रिलीज को Twitter पर शेयर किया है, जिसमें ऑर्डर की पूरी जानकारी देखी जा सकती है।

दोनों प्लेटफार्म अगस्त 2020 में सरकार द्वारा सकारात्मक स्वदेशीकरण सूची में प्रमुखता से दिखाए गए थे। उसके बाद मई 2021 में भी 108 आइटम की सूची जारी की गई थी। और फिर अप्रैल 2022 में 101 आइटम की सूची को सरकार ने इसी के तहत जारी किया था। अशोक लेलैंड के 7.5 स्टैलियन व्हीकल 1999 में करगिल युद्ध से ही इंडियन आर्मी की ताकत रहे हैं। 

कंपनी इन्हें खासतौर पर मिलिट्री के लिए समर्पित उत्पादन के तहत जबलपुर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बनाती है। इस साल के लिए मिलिट्री ट्रांसपोर्टेशन का बजट 6,717 करोड़ रखा गया है। इसके अलावा 4,038 करोड़ रुपये पूंजीगत व्यय के लिए रखे गए हैं। प्रेस रिलीज में Ashok Leyland के सीईओ शेनु अग्रवाल ने कहा कि इंडियन आर्मी से यह ऑर्डर प्राप्त करने पर उन्हें बहुत गर्व है। डिफेंस बिजनेस का बढ़ना कंपनी के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इंडियन आर्म्ड फोर्सेस के लिए कंपनी ने 4×4 प्लेटफॉर्म, 6×6 प्लेटफॉर्म, 8×8 प्लेटफॉर्म, 10×10 प्लेटफॉर्म, और 12×12 प्लेटफॉर्म डेवलप करने के लिए निवेश किया है।अशोक लेलैंड को भारतीय मिलिट्री के लिए सैन्य व्हीकल्स की सबसे बड़ी सप्लायर कहा जाता है।
 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *