Headlines

11 हजार किमी की साइकिल यात्रा में छत्तीसगढ़ की बेटी:युवाओं के लिए चला रहीं नशा मुक्त भारत अभियान; अगला मिशन- माउंट एवरेस्ट

बिलासपुर की पर्वतारोही बनकर इतिहास रचने वाली निशू सिंह ने नशा मुक्त भारत अभियान चलाकर एक और इतिहास रचने जा रही है। वह 11 हजार किलोमीटर से अधिक की साइकिल यात्रा कर भारत भ्रमण पर निकली हैं। बिलासपुर पहुंचने पर लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया और उनकी यात्रा की सफलता की कामना की। निशू सिंह 2024 में माउंट एवरेस्ट फतह करना चाहती हैं, जिसके लिए वह मदद भी मांग रहीं हैं।

बिलासपुर के भरनी सीआरपीएफ कैंप के जवान विपिन कुमार सिंह की बेटी निशू सिंह ने दिल्ली के लाल किले से पांच जून को अपनी साइिकल यात्रा शुरू की थी, जिसके बाद वह राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कन्याकुमारी होते हुए बिलासपुर पहुंची हैं। इसके बाद वह मेघालय, मणिपुर होते हुए लद्दाक जाएंगी। निशू सिंह ने अब तक पांच हजार किलोमीटर से ज्यादा साइकिल यात्रा पूरी कर ली हैं। जबकि, 6 हजार किलोमीटर की यात्रा अभी बाकी है।

नशा मुक्त भारत के लिए चला रहीं अभियान
निशू सिंह ने कहा कि वह नशे के खिलाफ अभियान चलाने और लोगों को जागरूक करने के लिए देश भर में साइकिल यात्रा पर निकली हैं। इस यात्रा को उद्देश्य पूर्ण बनाने के लिए वह लोगों को नशे से दूर रहने और फिट इंडिया का संदेश दे रही हैं।

देश की लड़कियों को भी संदेश दे रहीं निशू
निशू सिंह ने कहा कि बेटियों का साहस उसके परिवार से होता है। वह अपना देश घूमने निकली हैं। अब तक सफ़र मे उसे किसी तरह की परेशानी नहीं हुई है। इस यात्रा के दौरान वह ल़डकियों मे आत्मविश्वास और जागरूकता लाने की कोशिश भी कर रही है। उनका कहना है कि लड़कियों को भी हर काम के लिए आगे आना चाहिए। साथ ही परिवार के सदस्यों को भी उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए।

पर्यटन मंडल के अध्यक्ष, महापौर सहित शहरवासियों ने निशू सिंह का किया जोरदार स्वागत।

पर्यटन मंडल के अध्यक्ष, महापौर सहित शहरवासियों ने निशू सिंह का किया जोरदार स्वागत।

माउंट एवरेस्ट फतह के लिए निशू को चाहिए मदद
निशू सिंह अपनी साहसिक यात्रा के अगले पड़ाव में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने का जुनून है, जो बेहद कठिन है। साथ ही इसके लिए पैसों की भी जरूरत होगी। निशू सिंह ने कहा कि अपनी साइकिल यात्रा में वह उन लोगों की तलाश भी कर रहीं हैं, जो उसे माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के लिए एंट्री फीस देने सहित अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए आर्थिक रूप से मदद कर सके।

निशू सिंह के साथ उत्तर प्रदेश के पर्वतारोही नूर मोहम्मद भी है। उनका कहना है कि पर्वतारोही के लिए लाखों का फंड जुटाना बड़ी चुनौती है। फिर भी उन्होंने मन मे ठान लिया है कि माउंट एवरेस्ट पर जरूर चढ़ेगी। बिलासपुर पहुंचने पर पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, रामशरण यादव सहित समर्थकों व शहरवासियों ने उनका जोरदार स्वागत किया और शुभकामनांए भी दी।

लद्दाख की सबसे ऊंची पहाड़ी में तिरंगा लहरा चुकी हैं निशू सिंह।

लद्दाख की सबसे ऊंची पहाड़ी में तिरंगा लहरा चुकी हैं निशू सिंह।

अफ्रीका के सबसे ऊंचे पर्वत पर चढ़ चुकी है निशू
निशू सिंह दो साल पहले अफ्रीका के सबसे ऊंचे पर्वत माउंट किलिमंजारो की 5685 मीटर ऊंची चोटी पर तिरंगा लहरा चुकी हैं। निशू ने 22 अप्रैल 2021 को यह उपलब्धि हासिल की थी। उन्होंने तीन दिन में इस चढ़ाई को पूरा किया है। बता दें कि निशु सिंह का यह पहला अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोही है। इससे पहले निशू देश की 10 ऊंची चोटियों पर तिरंगा फहरा चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *