Headlines

क्राइम ब्रांच के सिपाही बनकर लूटे पैसे, धमकी दी:कार में बैठे, फिर बोले-फंसा देंगे, पैसे ट्रांसफर करवाए और भाग गए

बिलासपुर में क्राइम ब्रांच के कॉन्स्टेबल बनकर कार सवार युवक से पैसे लूटने का मामला सामने आया है। कार सवार युवक अपने दो परिचितों के साथ हेडलाइट सुधरवा रहा था। तभी तीन युवक आए और कार सवार को अपने साथ लेकर चले गए।

रास्ते में गाड़ी रोककर क्राइम ब्रांच के कथित आरक्षकों ने उससे एक लाख 88 हजार रुपए लूट लिए और डरा-धमकाकर दो लाख रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिए। घटना चार दिन पहले की है, जिसकी शिकायत अब थाने में की गई है। पूरा मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

सारंगढ़- बिलाईगढ़ जिले के ग्राम मल्दी के रहने वाले पुनीराम पटेल पिता भगत राम पटेल ने सिविल लाइन थाने में शिकायत करते हुए बताया कि उसने तखतपुर निवासी करण पटेल को उसकी बहन की शादी के लिए एक लाख 90 हजार रुपए उधार दिया था।

चार अगस्त को करण पटेल ने उसे उधारी पैसे लौटाने के लिए तखतपुर बुलाया था, जिस पर वह अपनी कार में ड्राइवर सियाराम यादव व उसके परिचित के साथ पेट्रोल पंप के पास पहुंचा। जहां करण पटेल मिला और उधार में लिए एक लाख 90 हजार रुपए को लौटाया, जिसमें से दो हजार रुपए का उसने पेट्रोल भराया। फिर वहां से बिलासपुर लौट गए।

क्राइम ब्रांच के सिपाही बनकर पैसे लूटने वालों के खिलाफ पुलिस से शिकायत की गई है।

क्राइम ब्रांच के सिपाही बनकर पैसे लूटने वालों के खिलाफ पुलिस से शिकायत की गई है।

राजेंद्र नगर चौक से ले गए तीन युवक
पुनीराम ने पुलिस को बताया कि बिलासपुर में राजेंद्र नगर चौक में तीनों रुक कर अपनी कार का हेडलाइट सुधरवा रहे थे। उसी समय तीन युवक आए और अपने आप को क्राइम ब्रांच का सिपाही बताकर कार में बैठ गए। फिर तीनों को सकरी रोड लेकर गए। जहां बीच रास्ते में कार रोक दी और उन्हें डराते-धमकाते हुए फंसाने की धमकी देने लगे। इस दौरान क्राइम ब्रांच के कथित आरक्षकों ने उनके पास रखे एक लाख 88 हजार रुपए लूट लिए। वहीं ड्राइवर व उसके परिचित को भी डरा-धमकाकर उनके मोबाइल से दो लाख रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिए।

गांव से लौटकर की शिकायत
पीड़ित ने बताया कि इस घटना के बाद वे लोग भयभीत हो गए थे, जिसके कारण गांव लौट गए थे। फिर गांव से लौटकर उसने इस घटना की जानकारी सिविल लाइन थाने में दी। शिकायतकर्ता ने ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के आधार पर आरोपियों की तलाश कर उनके खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है।

कथित पुलिसकर्मियों ने डरा-धमकाकर सूरज दुबे को फोन-पे पर पैसे भी ट्रांसफर करा लिए।

कथित पुलिसकर्मियों ने डरा-धमकाकर सूरज दुबे को फोन-पे पर पैसे भी ट्रांसफर करा लिए।

पुलिस बोली- संदिग्ध है मामला, जांच के बाद खुलेगा राज
सिविल लाइन टीआई परिवेश तिवारी का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह मामला संदिग्ध लग रहा है। पीड़ित व्यक्ति ने अकेले थाने आकर शिकायत किया है, जिस पर उसे अपने दो अन्य साथियों को भी बुलाने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही जिन युवकों ने पैसे लिए हैं, उनकी भी जानकारी जुटाई जा रही है। जांच के बाद ही इस मामले का राज खुल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *