Headlines

आदिवासी लड़कियों का यूज कर रहे सवर्ण’:वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने मंच से दिया विवादित बयान, कहा- हमारे यहां कई लड़कियां ऐसे ही सरपंच बनीं

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में आयोजित विश्व आदिवासी दिवस के समारोह में मरवाही के पूर्व विधायक पहलवान सिंह मरावी ने विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि सामान्य जाति के लोग आदिवासी लड़कियों को बहकाकर अपने साथ बिना शादी किए ही रख लेते हैं, उनका इस्तेमाल करते हैं और उनका यौन शोषण करते हैं।

मेढुका गांव में आयोजित मणिपुर आक्रोश रैली और विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर बुधवार को पूर्व विधायक ने ये विवादित बयान दिया है। पहलवान सिंह मरावी ने ये भी कहा कि अपने फायदे के लिए सामान्य वर्ग के लोग (जनरल कैटगरी) आदिवासी लड़कियों से शादी कर लेते हैं और फिर उन्हें सरपंच बनवाते हैं। इसके बाद उनके पद और उनकी मेहनत का दुरुपयोग कर खुद लाभ उठाते हैं। ऐसा करना अच्छी बात नहीं है।

यहां तक कि पूर्व विधायक ने विवादित बयान देते हुए ये तक कह दिया कि हमारे यहां से 12 लड़कियां ऐसे ही सरपंच बनी हैं। उन्होंने गौरेला के भदौरा गांव का उदाहरण दिया, जबकि 12 गावों का नाम नहीं बतलाया। मरावी ने कहा कि सवर्ण लोग हमारी बहन-बेटियों को गुमराह करते हैं, इसलिए अपने बच्चों को संभालकर रखें।

जब पहलवान सिंह मरावी विवादित बयान दे रहे थे, वहां मरवाही विधायक डॉ केके ध्रुव भी मौजूद थे।

जब पहलवान सिंह मरावी विवादित बयान दे रहे थे, वहां मरवाही विधायक डॉ केके ध्रुव भी मौजूद थे।

वहीं जिस दौरान पहलवान सिंह मरावी मंच से यह बात कह रहे थे, उस समय विधायक डॉक्टर केके ध्रुव सहित समाज के तमाम बड़े नेता और पदाधिकारी मौजूद थे। इधर उनके बयान का समर्थन जिला पंचायत सदस्य शुभम पेंद्रो ने भी किया है।

कांग्रेस नेता और जिला पंचायत सदस्य शुभम पेंद्रो ने पहलवान सिंह मरावी के बयान का किया समर्थन।

कांग्रेस नेता और जिला पंचायत सदस्य शुभम पेंद्रो ने पहलवान सिंह मरावी के बयान का किया समर्थन।

कांग्रेस नेता और जिला पंचायत सदस्य शुभम पेंद्रो ने कहा कि अगर कोई आदिवासी लड़की दूसरी जाति के युवक से शादी कर लेती है, तो उसे आदिवासी होने का लाभ नहीं मिले। इससे दूसरी जाति के लोग लालच में आकर आदिवासी लड़की का इस्तेमाल करने के लिए इनसे शादी नहीं करेंगे। शुभम पेंद्रो ने भी विवादित बयान देते हुए कहा कि अगर आदिवासी समाज की लड़की किसी दूसरे समाज के लड़के से शादी करती है, तो उसका सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए। साथ ही अगर वो कोई चुनाव लड़े, तो उसे वोट नहीं दिया जाना चाहिए।

अरविंद नेताम के इस्तीफे पर भी पहलवान सिंह मरावी का बयान

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ आदिवासी नेता अरविंद नेताम के इस्तीफे पर भी पूर्व विधायक पहलवान सिंह मरावी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि अरविंद नेताम बड़े आदिवासी नेता हैं। उन्होंने कांग्रेस पार्टी में रहते हुए आदिवासियों के हित में कई कार्य किए। उन्होंने इस्तीफा क्यों दिया, समझ में नहीं आया। कांग्रेस पार्टी से क्यों इस्तीफा दिए समझ नही आया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *