आरोपी जल्द गिरफ्त में होंगे:एटीएम में चोरी के दौरान एक्टिव 5 हजार से ज्यादा नंबर खंगाले, यूपी, बिहार, दिल्ली के नंबरों पर संदेह

पीएसटीएन (पब्लिक स्विच्ड टेलिफोन नेटवर्क) से जिला पुलिस को एटीएम चोरों का क्लू मिला है। हुडको क्षेत्र के आसपास के सभी मोबाइल टॉवरों से घटना वाली रात बंद और एक्टिव मोबाइल नंबरों को ट्रेस किया गया गया है। पुलिस के मुताबिक 5 हजार से ज्यादा नंबरों को खंगाला गया है। इसमें कुछ नंबर यूपी,​ बिहार और दिल्ली के हैं, जो लगातार बंद और चालू हो रहे हैं।

उनके आधार पर पुलिस जांच का दायरा आगे बढ़ा रही है।जिला पुलिस इन सभी संदिग्ध नंबरों का लोकल कनेक्शन निकाल रही है। क्योंकि पुलिस का मानना है कि बिना लोकल इन्वॉल्वमेंट बाहरी गिरोह हुडको या पद्मनाभपुर क्षेत्र में पहुंचकर इस तरह की घटना को अंजाम नहीं दे सकते। बता दें कि तीन दिन पहले हुडको और पद्मनाभपुर के बोरसी में चोरों ने एटीएम को काटकर 60 लाख से ज्यादा के कैश चोरी कर लिया था।

साथ ही एटीएम को भी जलाने का प्रयास किया। सीसीटीवी फुटेज में नकाब में आरोपी नजर भी आ रहे हैं। इसके आधार पर पुलिस उनकी तलाश कर रही है। एएसपी संजय ध्रुव ने बताया कि क्राइम टीम घटना को अंजाम देने वालों की तलाश में जुटी है। कुछ अहम जानकारी पुलिस को मिली है।

48 घंटों तक सक्रिय रहे मोबाइल नंबर ट्रेस कर रहे

पुलिस को मोबाइल टॉवर खंगालने पर घटना वाली रात 5 हजार से ज्यादा एक्टिव और बंद मोबाइल नंबर की जानकारी मिली है। इतने ज्यादा नंबरों से उसने संदिग्ध नंबरों की तलाश की है। इनमें वे नंबर शामिल हैं, जो कि पिछले 15 दिनों से हुडको के आसपास एक्टिव रहे हैं। रात 12 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक जो नंबर बंद मिले हैं, उन पर पुलिस का ज्यादा फोकस है।

दिल्ली और महाराष्ट्र गई टीम भी जांच कर रही

एटीएम से चोरी और आगजनी करने वालों गिरोह की पतासाजी में दो टीम महाराष्ट्र और दिल्ली भेजी गई है। इसके लिए टीमों ने दोनों जगह से पूर्व में हुई एफआईआर निकालकर उसमें शामिल आरोपियों की जानकारी जुटाई जा रही है। इसके अलावा एटीएम में अन्य चोरी की घटनाओं से जुड़े आरोपियों के बारे में भी पूछताछ की जा रही है।

हमारी टीम को अहम क्लू मिला, जल्द चोर पकड़े जाएंगे

एटीएम से चोरी की घटना में हमारी टीम को अहम क्लू मिला है। घटना वाले ​स्थान से ​एक्टिव और बंद मोबाइल नंबरों को डाटा लिया गया है। उन नंबरों की मदद से आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
संजय ध्रुव, एएसपी दुर्ग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *