Headlines

छह घंटे ब्लॉक रहेगा बिलासपुर-रतनपुर मार्ग:CU के 10वें दीक्षांत समारोह में शामिल होंगी राष्ट्रपति; 76 को गोल्ड मैडल, 28 को मिलेगी PHD

बिलासपुर में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के प्रवास के कारण गुरुवार और शुक्रवार को सुबह सात बजे से लेकर दोपहर दो बजे तक बिलासपुर-रतनपुर मार्ग ब्लॉक रहेगा। राष्ट्रपति मुर्मू शुक्रवार को रतनपुर स्थित महामाया देवी दर्शन करने जाएंगी। इसके बाद गुरु घासीदास सेंट्रल यूनिवर्सिटी के 10वें दीक्षांत समारोह में शामिल होंगी। उनकी सुरक्षा को लेकर बुधवार से ही पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

सेंट्रल यूनिवर्सिटी की रजत जयंती सभागार में होगा आयोजन।

सेंट्रल यूनिवर्सिटी की रजत जयंती सभागार में होगा आयोजन।

यूनिवर्सिटी के साथ ही जिला प्रशासन गुरुवार को कारकेट से लेकर दीक्षांत समारोह तक का रिहर्सल करेगा, ताकि कार्यक्रम में कोई अव्यवस्था न हो। राष्ट्रपति की सुरक्षा को देखते हुए गुरुवार से ही पुलिस जवानों को रतनपुर और यूनिवर्सिटी में तैनात कर दिया गया है। साथ ही शहर में अलग-अलग स्थानों व आउटर क्षेत्र में दर्जनों जगह नाकेबंदी की गई है, जहां संदिग्ध लोगों पर पुलिस नजर रख रही है।

राज्यपाल, सीएम मंत्री व अधिकारी करेंगे रिसीव
दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन के साथ ही केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह, केंद्र सरकार के शिक्षा व संस्कृति सचिव डॉ. अतुल कोठारी भी शामिल होंगे। लेकिन, राष्ट्रपति की अगुवाई सीएम बघेल और राज्यपाल हरिचंदन के साथ ही कुलपति और प्रशासनिक अधिकारी ही करेंगे।

बुधवार से ही यूनिवर्सिटी कैंपस को सील कर दिया गया है।

बुधवार से ही यूनिवर्सिटी कैंपस को सील कर दिया गया है।

आईजी छाबड़ा व एसपी सिंह पर है सुरक्षा की जिम्मेदारी
राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था का प्रभारी आईजी डॉ आनंद छाबड़ा हैं। इसके अलावा एसपी बिलासपुर संतोष कुमार सिंह इसकी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए 3 डीआईजी, 8 एसपी-सेनानी, 12 एएसपी-उप सेनानी, 25 डीएसपी-सहायक सेनानी, 60 निरीक्षक, 110 उप-निरीक्षक-अतिरिक्त उप-निरीक्षक, 110 प्रधान आरक्षक, 700 आरक्षक, 150 महिला आरक्षकों के साथ ही सशस्त्र जवानों की की ड्यूटी लगाई गई है।

छह घंटे ब्लॉक रहेगा बिलासपुर-रतनपुर मार्ग
राष्ट्रपति के आगमन को लेकर शहर में कुछ स्थानों पर वाहनों का प्रवेश पूरी तरह बंद रहेगा। इसके अलावा गुरुवार 31 अगस्त की सुबह 9 बजे से दोपहर दो बजे तक पूरे कार्यक्रम की रिहर्सल की जाएगी। इसे देखते हुए बिलासपुर-रतनपुर मार्ग को छह घंटे बंद रखा जाएगा। सेंट्रल यूनिवर्सिटी में दीक्षांत समारोह रजत जयंती ‎सभागार में होगा। इसके पहले 31‎ अगस्त को सुबह 10 बजे से रिहर्सल‎ किया जाएगा। इसमें मैडल व उपाधि पाने वाले शोधार्थियों को भी बुलाया गया है।

पुलिस लाइन में बुधवार को प्रदेश भर से आए जवानों को उनकी ड्यूटी बताई गई।

पुलिस लाइन में बुधवार को प्रदेश भर से आए जवानों को उनकी ड्यूटी बताई गई।

दीक्षांत समारोह में शामिल होने वाले लोगों का कोविड टेस्ट
दीक्षांत समारोह में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स से लेकर प्रत्येक लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा रहा है। इसके लिए बुधवार से ही सिम्स के वॉयरोलॉजी स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है। सीएमएचओ ऑफिस के स्टाफ भी यूनिवर्सिटी और जिला प्रशासन के अधिकारियों का आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल ले रहे हैं। बुधवार को सिम्स के स्टाफ अलग-अलग शिफ्ट में सैंपल की जांच करते रहे। राष्ट्रपति भवन से जारी प्रोटोकॉल के अनुसार कार्यक्रम में शामिल होने वाले हर एक व्यक्ति की कोविड टेस्ट कराने के निर्देश दिए गए हैं।

अपोलो के डॉक्टर रहेंगे तैनात
राष्ट्रपति मुर्मू की प्रवास के दौरान यूनिवर्सिटी परिसर में अपोलो के विशेषज्ञ डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई है और उनके लिए अलग से आईसीसीयू यूनिट का इंतजाम किया गया है। ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटने तत्काल सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।

यूनविर्सटी के अधिकारी- कर्मचारियों के प्रवेश पर भी बैन
दीक्षांत समारोह के दौरान सुरक्षा का विशेष इंतजाम किया गया है। यही वजह है कि कार्यक्रम में यूनिवर्सिटी के चिह्नित अफसरों व कर्मचारियों के साथ ही प्रोफेसर ही शामिल होंगे। इसी तरह शोधार्थी और मैडल पाने वाले स्टूडेंट्स के अलावा किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यूनिवर्सिटी के अधिकारी कर्मचारियों को दफ्तर में बैठे रहने और एलईडी स्क्रीन पर समारोह देखने के निर्देश दिए गए हैं।

जवानों को उनके ड्यूटी पाइंट के लिए बुधवार से ही रवाना कर दिया गया है।

208 स्टूडेंट्स व पैरेंट्स होंगे शामिल
यूनिवर्सिटी ने समारोह की तैयारी पूरी कर ली है। दीक्षांत समारोह में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स व पैरेंट्स की लिस्टिंग की गई है, जिसके मुताबिक 104 विद्यार्थियों के साथ उनके अभिभावक शामिल होंगे। जिनकी संख्या 208 है।

76 स्टूडेंट्स को गोल्ड मैडल और 28 शोधार्थियों को मिलेगी उपाधि
दीक्षांत समारोह में शैक्षणिक सत्र 2021-22 की विभिन्न परीक्षाओं‎ और पत्रोपाधि में मेरिट सूची में प्रथम स्थान पाने वाले छात्र शामिल होंगे।‎ साथ ही, ऐसे शोधार्थी जो 1 जनवरी से 31 दिसंबर 2022 के मध्य ‎पीएचडी उपाधि के लिए पात्र पाए गए हैं, वे शामिल होंगे। समारोह में 28 ‎शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि और 76 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल प्रदान किए जाएंगे। इसमें विश्वविद्यालय पदक, चांसलर पदक व ‎गुरु घासीदास विश्वविद्यालय पदक और दानदाता पदक भी शामिल हैं।‎ 76 में से 72 छात्रों को विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक दिया जाएगा। हर साल की तरह इस बार भी स्वर्ण पदक में छात्राओं ने अपना दबदबा करकरार रखा है। इस बार 45 छात्राओं को स्वर्ण पदक मिलेंगे। वहीं स्वर्ण पदक हासिल करने में 31 छात्र ही कामयाब रहे हैं।

8 छात्रों को मिलेगा दो-दो मेडल
10वें दीक्षांत में 76 में से 72 छात्रों को विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक दिया जाएगा। इसके अलावा बीए एलएलबी के छात्र आयुष ताम्रकार को चांसलर मेडल मिलेगा। वहीं गुरु घासीदास पदक से बीएससी गणति के पंकज आर्य सम्मानित होंगे। वहीं एससी, एसटी मेडल दो छात्रों को दिया जाएगा। इसके अलावा 10 दानदाताओं के मेडल दिए जाएंगे। दानादाताओं के मेडल एमए पत्रकारिता, एमएससी गणित, एमबीए, एमए अंग्रेजी के एक-एक छात्र को दिया जाएगा। वहीं एमसीए, एमए अर्थशास्त्र, एमएससी फारेस्ट्री के दो-दो छात्रों को दानदाता मेडल दिया जाएगा।

राष्ट्रपति प्रवास के पहले सेना के हेलीकाप्टर से अफसरों ने लिया जायजा।

राष्ट्रपति प्रवास के पहले सेना के हेलीकाप्टर से अफसरों ने लिया जायजा।

राष्ट्रपति के साथ होगी ग्रुप फोटो
मुख्य अतिथि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु की यूनविर्सटी पहुंचने के बाद पहले सभागार परिसर में कार्यपरिषद एवं विद्यापरिषद सदस्यों के साथ ग्रुप फोटो सेशन होगा। इसके बाद विद्यार्थियों के साथ ग्रुप फोटो सेशन होगा। इसके लिए विश्वविद्यालय में दोनों समूह के बैठने के लिए स्थान रजत जयंती सभागार के बाहर निर्धारित किया गया है। इसके बाद शोभा यात्रा शुरू होगी, जो रजत जयंती सभागार में प्रवेश करेगी।

पुलिस ने बनाया डायवर्सन पाइंट।

पुलिस ने बनाया डायवर्सन पाइंट।

पुलिस ने जारी किया डायवर्सन पॉइंट और बनाया डायवर्सन मार्ग

  • रायपुर से रतनपुर होकर कोरबा-कटघोरा जाने वाले हल्के वाहनों के लिए पेंड्रीडीह बाईपास चौक को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। यहां पेंड्रीडीह बाईपास से गुम्बर पेट्रोलपंप से लालखदान, तोरवा, मोपका तिराहा, लगरा, जांजी, से मोहरा, सेलर, डंगनिया, भाड़ी, जाली मार्ग से नेशनल हाइवे पर वाहन प्रवेश करेंगे।
  • कोरबा-कटघोरा से रतनपुर होकर रायपुर जाने वाले हल्के वाहनों के लिए जांजी-सेलर मोड़ को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। जाली, भाड़ी, डंगनिया, सेलर, मोहरा, जांजी, से मोपका, तोरवा, लालखदान, गुम्बर पेट्रोलपंप से पेंड्रीडीह बाईपास होकर आगे वाहन जाएंगे।
  • तखतपुर-कोटा से सकरी-रतनपुर से कटघोरा-कोरबा जाने वाले हल्के वाहनों के लिए सकरी बाईपास को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। सकरी बाईपास से गाड़ियां उस्लापुर, मंगला रेंग रोड 2, रेलवे क्षेत्र, तोरवा, मोपका तिराहा, लगरा, जांजी से सेलर, डंगनिया, भाड़ी, जाली मार्ग से आगे नेशनल हाइवे पर जाएंगी।
  • कोरबा-कटघोरा से रतनपुर-सकरी होकर तखतपुर-कोटा जाने वाले हल्के वाहनों के लिए जाली मोड़ को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। जाली मोड़ से भाड़ी सेलर, जांजी से मोपका तोरवा, रेलवे क्षेत्र से रिंग रोड, मंगला, उस्लापुर से होकर वाहन आगे जाएंगे।
  • पेंड्रा-केंदा मार्ग से कटघोरा-कोरबा की ओर जाने वाले हल्के वाहनों के लिए सिल्ली को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। सिल्ली से पाली होते हुए वाहन नेशनल हाइवे पर प्रवेश कर आगे जाएंगे।
  • पेंड्रा-केंदा मार्ग से रतनपुर होकर बिलासपुर-रायपुर-जांजगीर जाने वालों के लिए महामाया चौक रतनपुर को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। वाहन महामाया चौक रतनपुर से रेस्ट हाउस रोड, जाली मोड़ से भाड़ी, सेलर, जांजी से मोपका होकर शहर में प्रवेश करेंगे. इसके बाद आगे जाने के लिए तोरवा-लालखदान वाले मार्ग से जाएंगे।
  • बिलासपुर शहर से रतनपुर की ओर जाने वाले वाहनों के लिए महामाया चौक बिलासपुर को डायवर्सन पॉइंट बनाया गया है। यहां से वाहन सरकंडा रोड से मोपका फिर जांजी मोड़ से होते हुए सेलर, भाड़ी, जाली मोड़ होकर रेस्ट हाउस रतनपुर जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *