सर्वे के आधार पर लिया निर्णय:सेक्टर 1 और 5 की दो टंकियां अनफिट घोषित, बीएसपी और निगम टैंकरों से पानी सप्लाई करेंगे

दो दिन पहले बीएसपी टाउनशिप के सेक्टर 4 में दो टंकियां ढहने के बाद बीएसपी प्रबंधन पर दबाव बढ़ने पर उसने गुरूवार को सेक्टर 1 और 5 की जर्जर टंकियों को अनफिट घोषित कर दिया। साथ ही 8 सितंबर से इन टंकियों से पानी सप्लाई रोकने का निर्णय लिया है। इस दौरान प्रभावित क्षेत्र में पानी की सप्लाई टैंकरों और जार के माध्यम से की जाएगी।

टंकियां ढहने के बाद बीएसपी प्रबंधन की तीन सदस्यीय कमेटी और रायपुर की निजी एजेंसी ने टाउनशिप की पानी टंकियों की हालत का पता लगाने सर्वे शुरू किया है। पहले दिन के सर्वे रिपोर्ट के आधार पर सेक्टर 1 और 5 की पानी टंकियों को अनफिट घोषित करने का निर्णय लिया गया। हालांकि निर्णय को अंतिम रूप देने के पहले सीजीएम टाउनशिप ने बुधवार को कलेक्टर के साथ बैठक की। जिसमें अनफिट घोषित किए जाने वाली टंकियों से जुड़ी जानकारी दी। जिसके बाद कलेक्टर ने तत्काल इन्हें अनफिट घोषित करते हुए निगम आयुक्त को प्रभावित क्षेत्रों में पानी सप्लाई के लिए आसपास के निकायों से भी टैंकर बुलाने कहा।

साथ ही जार से भी पानी सप्लाई करने के निर्देश दिए। इसके अलावा सेक्टर 1 और 5 में वाटर एटीएम भी लगाए जाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। सेक्टर 1 में क्लब के पास एटीएम लगाया जाएगा। वहीं प्रबंधन की कमेटी और निजी एजेंसी बाकी पानी टंकियों का भी अवलोकन कर उसका एनडीटी कर रही है। सेक्टर-1 और सेक्टर-5 की दो प्रमुख पानी टंकियों के जर्जर होने के खुलासे के बाद 8 सितंबर से इन टंकियों से पानी सप्लाई बंद करने का निर्णय लिया गया है।

अब लोहे की टंकियां स्थापित की जाएंगी

सीजीएम टाउनशिप ने यूनियन नेताओं को यह जानकारी भी दी कि अब आगे से लोहे की पानी टंकियां स्थापित की जाएगी। इनकी लाइफ भी काफी रहती है। टाउनशिप के कुछ सेक्टर्स में ये टंकियां स्थापित है जो पुरानी होने के बाद भी बेहतर स्थिति में है। इतना ही नहीं लोहे की टंकियों को स्थापित करने में कम समय लगता है। वहीं सीमेंट की टंकियों का निर्माण महंगा होने के साथ ही अधिक समय लगता है।

4 दिनों बाद पानी सप्लाई सामान्य होने की उम्मीद

अनफिट घोषित होने के बाद सेक्टर 1 और 5 की टंकियों में गुरुवार से ही पानी भरना बंद कर दिया गया है। जिसके कारण शुक्रवार से इन सेक्टर्स में पानी की सप्लाई नहीं होगी। 4 दिनों बाद स्थिति के सामान्य होने की उम्मीद है। इस दौरान फिल्टर प्लांट से इन सेक्टर्स की वितरण लाइन को जोड़ा जाएगा। पाइप लाइन टंकी के नीचे ही है, लिहाजा कनेक्ट करने का काम थोड़ी दूरी में किया जाएगा ताकि टंकियों को ढहाते समय ये क्षतिग्रस्त न हो जाए।

बारिश के कारण सेक्टर 4 में काम प्रभावित हुआ

सेक्टर 4 में पानी टंकियों के मलबा हटाने का काम तीसरे दिन भी जारी रहा। हालांकि बारिश की वजह से काम प्रभावित भी हुआ। बारिश के ही कारण सेक्टर 2 की वितरण लाइन के पंक्चर को वेल्ड नहीं किया जा सका। सेक्टर के लोग आज भी टैंकर पर निर्भर रहे। मलबा नहीं हट पाने से फिल्टर प्लांट की लाइन को वितरण लाइन से नहीं जोड़ा जा सका। वहीं सेक्टर 4 के जिन हिस्सों के मकानों में नलों से पानी आ रहा है, वहां गंदा पानी आने की शिकायत आई है।

टंकियों को ढहाने एक्सपर्ट की ली जाएगी मदद

प्रबंधन के निर्णय की जानकारी देने के लिए गुरूवार को सीजीएम टाउनशिप ने ओए और यूनियन प्रतिनिधियों की बुलाई बैठक में जानकारी दी कि दोनों सेक्टर की पानी टंकियों को ढहाने के लिए भी एक्सपर्ट की मदद ली जाएगी। सेक्टर 1 में टंकी सी मार्केट के पास है। आसपास मकान भी हैं। इस स्थिति में ढहाते समय किसी भी तरह की जनहानि न हो इसे ध्यान में रखते हुए टंकियों को ढहाने के लिए आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *