Headlines

छत्तीसगढ़िया ओलंपिक में जुटे 500 खिलाड़ी गेड़ी, फुगड़ी, बांटी भंवरा समेत 16 स्पर्धाएं हुईं

छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल के तहत निकाय स्तरीय दो दिवसीय स्पर्धा भिलाई विद्यालय सेक्टर-2 मैदान में शुरू हुआ। इसमें दुर्ग, भिलाई, रिसाली, उतई, पाटन सहित 8 निकाय से लगभग 500 से अधिक खिलाड़ी जुटे। गेड़ी, फुगड़ी, खो-खो, बांटी, भंवरा समेत 16 इवेंट्स में अपने-अपने निकायों का प्रतिनिधित्व किया।

इसमें बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक हिस्सा ले रहे हैं। पारंपरिक खेलों का लुत्फ उठा रहे है। बच्चे गिल्ली डंडा, पिट्ठुल तो महिलाएं रस्साकशी, लंगड़ी और फुगड़ी में शामिल हुईं।

छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन 26 जुलाई से शुरू हुआ है। प्रथम चरण में राजीव युवा मितान क्लब स्तर के विजेता खिलाड़ियों ने जोन स्तर की प्रतियोगिता में शामिल हुए। दूसरे चरण में जोन स्तर की स्पर्धाएं हुईं। इसके विजेता तीसरे चरण में निकाय स्तरीय खेल स्पर्धा में शामिल हो रहे हैं। पारंपरिक खेलों में खिलाड़ी पूरे उत्साह से मैदान में दमखम दिखा रहे हैं। खेल आयोजन को सफल बनाने नोडल अधिकारी डीके वर्मा, जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा, सहायक नोडल अधिकारी अजय शुक्ला, सहायक राजस्व अधिकारी बालकृष्ण नायडू, अनिल मेश्राम, मलखान सिंह सोरी, जेपी तिवारी, धीरज साहू, खेल विभाग से पीटीआई और विभिन्न निकायों से पहुंचे कर्मचारी मैदान में डटे रहे। कबड्‌डी स्पर्धा के दौरान विरोधी टीम के खिलाड़ी को आउट करने जद्दोजहद।

तीन समूहों में प्रतियोगिता, जीतने वाले का चयन आगे के लिए होगा गिल्ली डण्डा, पिटूटल, संखली, लंगड़ी दौड़, कबड्डी, खो-खो, रस्साकसी, कंचा, बिल्लस, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भंवरा, 100 मी दोड़, लम्बीकूद, रस्सीकूद, कुश्ती सहित कुल 16 प्रकार के खेल को छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल में प्रतिभागियों को 3 समूह में बांटा गया है। 0 से 18, 18 से 40, 40 से अधिक उम्र के आधार पर शामिल किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *