Headlines

18 सितंबर के बाद आएगी कांग्रेस की पहली लिस्ट:देर रात तक स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में मंथन, नामों पर नहीं बन पाई सहमति

सीएम हाउस में शुक्रवार देर रात तक चली कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में प्रत्याशियों के नामों को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। नामों को लेकर सहमति नहीं बन पाई। दिल्ली की सर्वे रिपोर्ट के बाद प्रत्याशियों के चयन में बदलाव किए जा सकते हैं। इसलिए केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक तक अंतिम सूची के लिए अभी इंतजार करना होगा।

बैठक में कमेटी के अध्यक्ष वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय माकन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा, डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव, पीसीसी अध्यक्ष दीपक बैज और सदस्य एल हनुमंथैया और नेटा डिसूजा मौजूद रहे।

स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन भी सर्वे रिपोर्ट और नामों की लिस्ट लेकर बैठक में पहुंचे थे। (फाइल फोटो)

स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन भी सर्वे रिपोर्ट और नामों की लिस्ट लेकर बैठक में पहुंचे थे। (फाइल फोटो)

स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में नामों को लेकर लंबी चर्चा हुई है। जिसमें फिर से पैनल तैयार किए गए हैं और कुछ नामों को जोड़ा भी गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन भी दिल्ली से सभी विधानसभाओं में 2 नामों की सूची लेकर बैठक में पहुंचे थे।

यहां छानबीन समिति की रिपोर्ट और ब्लॉक स्तर के पैनल पर भी काफी चर्चा हुई। जिसके बाद अब कहा जा रहा है कि 12 सितम्बर को केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। हालांकि सूत्रों का ये भी कहना है कि पहली लिस्ट के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है। 18 सितम्बर के बाद ही पहली लिस्ट जारी हो पाएगी।

इससे पहले चुनाव से जुड़ी अहम बैठक में केसी वेणुगोपाल भी शामिल हुए थे (फाइल फोटो)

इससे पहले चुनाव से जुड़ी अहम बैठक में केसी वेणुगोपाल भी शामिल हुए थे (फाइल फोटो)

जानिए स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के दौरान किन बिन्दुओं पर चर्चा हुई।

  • 90 सीटों की स्थिति वहां सरकार के कामकाज को लेकर चर्चा की गई।
  • जिन सीटों में कांग्रेस के विधायक हैं, वहां एंटी इंकम्बेसी जैसी स्थिति तो नहीं है और अगर है तो क्या नए चेहरे से उसे दूर किया जा सकता है?
  • सूत्रों के मुताबिक बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की मौजूदा स्थिति और बीजेपी किन मुद्दों को लेकर आक्रामक है, इस पर भी चर्चा की गई।
  • केन्द्र और राज्य के बीच टकराव और धान खरीदी की स्थिति को लेकर लम्बी चर्चा हुई। सूत्रों का कहना है कि धान के मुद्दे पर बैठक में लम्बी चर्चा की गई।
  • वर्तमान में सरकार की संभागवार स्थिति जिसमें रायपुर, दुर्ग, बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर संभाग की स्थिति का आंकलन सीटों के हिसाब से संभागवार किया गया।
  • मौजूदा मंत्रियों और विधायकों की स्थिति को लेकर भी सर्वे रिपोर्ट के आधार पर चर्चा की गई। बताया जा रहा है कि अजय माकन भी सर्वे रिपोर्ट लेकर बैठक में पहुंचे थे।
  • इसके अलावा छत्तीसगढ़ सरकार के संदर्भ में केन्द्र की मोदी सरकार की नीतियां और योजनाओं में कितना विरोधाभास है। इस पर भी बात की गई है।

आगे क्या होगा?

सूत्रों के हवाले मिली जानकारी के मुताबिक फिलहाल कांग्रेस की लिस्ट जारी नहीं की जाएगी। क्योंकि कई नामों पर आम सहमति नहीं बन पाई है। कमेटी की बैठक में फिर से पैनल तैयार किए गए हैं, जिनमें कुछ नए नाम भी शामिल हैं, अजय माकन यहां से प्रत्याशियों का नाम लेकर हाईकमान को सौंपेंगे और फिर केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद ही पहली लिस्ट का ऐलान होगा। जिसके लिए अभी इंतजार करना पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *