Headlines

Reliance Exploring Foray into Semiconductor Manufacturing, in Talks With Foreign Companies

सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग पर मुकेश अंबानी की नजर, रिलायंस की विदेशी चिपमेकर्स से बातचीत

बिलिनेयर मुकेश अंबानी की Reliance Industries ने सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग में उतरने की योजना बनाई है। इससे देश में सेमीकंडक्टर्स की बढ़ती डिमांड को पूरा किया जा सकेगा। एनर्जी से लेकर टेलीकॉम तक के बिजनेस से जुड़ी यह कंपनी टेक्नोलॉजी पार्टनरशिप के लिए विदेशी चिपमेकर्स के साथ बातचीत कर रही है। 

इस बारे में जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया, “यह योजना है और इसे लेकर कोई समयसीमा नहीं है।” सूत्रों का कहना था कि रिलायंस ने इस बारे में फैसला नहीं किया है कि वह इस सेक्टर में इनवेस्टमेंट करना चाहती है या नहीं। यह पता नहीं चल सका है कि रिलायंस की किन विदेशी कंपनियों के साथ बातचीत हो रही है। इस बारे में रिलायंस को टिप्पणी के लिए भेजे गए निवेदन का उत्तर नहीं मिला है। प्रधानमंत्री कार्यालय और IT मिनिस्ट्री ने भी टिप्पणी के लिए निवेदनों का उत्तर नहीं दिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लगभग दो वर्ष पहले कहा था कि वह देश को दुनिया के लिए सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग का हब बनाना चाहते हैं। हाल ही में मोदी ने बताया था कि देश में सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री के लिए एक इकोसिस्टम तैयार किया जा रहा है। टेक्नोलॉजी कंपनियों को देश में सेमीकंडक्टर की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने पर 50 प्रतिशत की वित्तीय सहायता दी जाएगी। उनका कहना था कि सेमीकंडक्टर सेक्टर में इनवेस्टमेंट के लिए भारत एक हब बन रहा है। दुनिया को एक विश्वासनीय चिप सप्लाई चेन की जरूरत है। 

देश में कोई चिप मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं है। हालांकि, Vedanta और ताइवान की Foxconn ने सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की योजना बनाई है। सूत्रों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि रिलायंस को सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग से अपने टेलीकॉम और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज बिजनेस में आसानी हो सकती है। कंपनी ने लगभग दो वर्ष पहले चिप की शॉर्टेज के कारण कम प्राइस वाले स्मार्टफोन के लॉन्च को टाल दिया था। देश और विदेश में सेमीकंडक्टर्स की डिमांड भी बढ़ रही है। 

केंद्र सरकार का अनुमान है कि देश का चिप मार्केट 2028 तक बढ़कर लगभग 80 अरब डॉलर का हो जाएगा। यह मार्केट अभी लगभग 23 अरब डॉलर का है। अमेरिका चिपमेकर GlobalFoundries के पूर्व एग्जिक्यूटिव, Arun Mampazhy का कहना है कि लगभग 200 अरब डॉलर का मार्केट कैपिटलाइजेशन रखने वाली रिलायंस देश में सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री में उतरने के लिए बेहतर स्थिति वाली कंपनियों में शामिल है। 
 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *