Headlines

Maruti Suzuki Offering up to Rs 60,000 Discount in September on Its Cars

Maruti Suzuki की कारों पर फेस्टिव सीजन से पहले सितंबर में भारी डिस्काउंट

देश की सबसे बड़ी कार मेकर Maruti Suzuki ने सितंबर में Arena डीलरशिप्स के जरिए बेची जाने वाली अपनी कारों पर भारी डिस्काउंट की पेशकश की है। कंपनी के आठ मॉडल्स पर 60,000 रुपये तक का डिस्काउंट दिया जा रहा है। हाल ही में मारूति की एरिना डीलरशिप्स ने 70 लाख कारों की बिक्री को पार किया था। 

कंपनी की ओर से दिए जा रहे बेनेफिट्स में कैश डिस्काउंट, कॉरपोरेट डिस्काउंट और एक्सचेंज बोनस शामिल है। मारूति की सबसे अधिक बिकने वाली कारों में शामिल WagonR पर 35,000 रुपये का कैश डिस्काउंट और 20,000 रुपये तक एक्सचेंज बोनस लिया जा सकता है। इसके साथ ही कंपनी की ओर से 4,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट दिया जा रहा है। इसके CNG वेरिएंट पर 30,000 रुपये के कैश डिस्काउंट सहित 54,000 रुपये का डिस्काउंट मिल रहा है। मारूति की Swift हैचबैक खरीदने पर 35,000 रुपये के कैश बेनेफिट, 20,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस मिल रहा है। इसके अतिरिक्त 5,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट भी लिया जा सकता है। 

कंपनी की स्मॉल कार Alto K10 पर 54,000 रुपये तक के बेनेफिट्स मिल रहे हैं। इनमें इसके पेट्रोल मैनुअल वेरिएंट पर विशेषतौर पर 35,000 रुपये का कैश डिस्काउंट, 15,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस और 4,000 रुपये का कॉरपोरेट डिस्काउंट शामिल है। इसके पेट्रोल ऑटोमैटिक और CNG वेरिएंट्स पर 20,000 रुपये का कैश डिस्काउंट मिल रहा है। मारूति के Celerio, Dzire, Ertiga और Eeco जैसे अन्य मॉडल्स पर 20,000 रुपये से 59,000 रुपये तक डिस्काउंट दिया जा रहा है। 

हाल ही में मारूति ने बताया था कि उसे इस फेस्टिव सीजन में पैसेंजर व्हीकल्स की सेल्स 10 लाख यूनिट से ज्यादा रहने की उम्मीद है। कंपनी के सीनियर एग्जिक्यूटिव ऑफिसर, Shashank Srivastava ने कहा था कि आमतौर पर फेस्टिव सीजन में एक वर्ष के दौरान कुल सेल्स का 22-26 प्रतिशत मिलता है। उन्होंने बताया था, “इस फाइनेंशियल ईयर में पैसेंजर व्हीकल्स की कुल सेल्स लगभग 40 लाख यूनिट्स होने का अनुमान है। फेस्टिव सीजन में सेल्स लगभग 10 लाख यूनिट्स की हो सकती है।” ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की सेल्स इस वर्ष मजबूत रही है और यह आगामी महीनों में भी जारी रहने की उम्मीद है। मारूति के पास पैसेंजर व्हीकल्स के सेगमेंट में लगभग 43 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *