Headlines

बिजली कंपनी से क्लीयरेंस मिलने में हुई देरी:24 महीने में बनने वाली अंडा सड़क 22 महीने में 55% बनी, बिजली खंभे अब भी सड़क पर

पुलगांव चौक से अंडा जाने वाले मार्ग पर बिजली पोल सड़क पर आ गए।

मिनी माता चौक पुलगांव से अंडा तक 12.275 किमी मार्ग का काम अब तक 50 से 55 फीसदी पूरा हो सका है। जबकि निर्माण एजेंसी को दी मियाद दो महीने बाद समाप्त हो जाएगी। विभागीय अधिकारी देरी की वजह चौड़ीकरण में आने वाली अड़चनों को बता रहे हैं।

उनका कहना है कि मार्ग चौड़ा करने के लिए पेड़-पौधे, बिजली खंबे और हैंडपंप को हटाना था, लेकिन संबंधित विभागों से एनओसी मिलने देरी हो गई। इसके चलते काम की रफ्तार धीमी रही। इस देरी से मार्ग से गुजरने वाले मुसाफिरों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दिनभर धूल के गुबार उड़ रहे हैं। रात में सड़क में अंधेरा होने से छोटे वाहनों को आवाजाही में खासी परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है।

पीडब्ल्यूडी ने दो साल पहले अक्टूबर 2021 में 100 करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया था। 24 महीने में काम पूरा कराने का जिम्मा बेमेतरा की एजेंसी किरन बिडक्वाइन को दिया गया। 12 किमी के मार्ग में पुलगांव चौक से अंडा तक जाते समय डेढ़ किमी के मार्ग में करीब 65 बिजली के खंबे थे। इसके अलावा चंदखुरी से आगे हैंडपंप आड़े आ रहे थे। इसके अलावा सड़क किनारे लगे पौधों भी अड़चन बने हुए थे, जिन्हें हटाने के लिए पीडब्ल्यूडी की ओर से पीएचई और वन विभाग से एनओसी मांगी गई थी लेकिन एनओसी मिलने में छह माह से अधिक समय लगने की वजह काम रफ्तार नहीं पकड़ सका।

धीमी गति से काम चलने की वजह से 24 महीने में पूरा होना वाला काम दो साल बाद भी अधूरा है लेकिन अब एनओसी मिलने के बाद पोल शिफ्टिंग हो चुकी है। इसके अलावा हैंडपंप और मंदिर को हटाया जा चुका है। सड़क चौड़ीकरण में सबसे ज्यादा परेशान पीसेगांव, कुथरेल, चिंगरी, चंदखुरी सहित आसपास के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में आ रही थी। यहां सड़क किनारे करीब 7 ऐसे हैंडपंप थे, जो चौड़ीकरण में किनारे से तीन मीटर तक सड़क पर आ रहे थे।

डेढ़ किमी मार्ग में करीब 65 खंभों की शिफ्टिंग होनी है

पुलगांव कपड़ा मार्केट से चंदखुरी और आगे के आसपास के गांव में सड़क किनारे लगे करीब 65 बिजली खंबे चौड़ीकरण में आड़े आ रहे थे। इन्हें शिफ्ट करने के बाद काम को आगे बढ़ाया जा सकता था। बिजली कंपनी ने इसके लिए 25 से 30 लाख रुपए की रकम विभाग को जमा कराने का डिमांड नोटिस भेज दिया था। इस पर विभाग को इस रकम के लिए के शासन से अलग से डिमांड करनी पड़ी। रकम भेजने के बाद बिजली कंपनी द्वारा शिफ्टिंग में काफी समय लगा दिया गया। इससे पहले वन से सड़क किनारे लगे पेड़ों को हटाने के लिए एनओसी लेनी पड़ी। उसमें भी विभाग की ओर काफी समय लगा दिया।

पुलगांव चौक से अंडा तक 12 किमी की सड़क

  • 100 करोड़ रु. की लागत से बनाई जा रही है सड़क
  • 55 प्रतिशत काम ही पूरा हुआ
  • 9.5 मीटर दोनों ओर से चौड़ी सड़क बनाने का काम होना है
  • 1.6 मीटर का डिवाइडर बनाया जाना है, इसका काम शुरू नहीं हुआ है।

बिजली कंपनी द्वारा ही क्लीयरेंस में देरी की गई

ऐसे में काम के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद जताई जा रही है। पुलगांव मिनी माता चौक से अंडा तक के 12.275 किमी मार्ग में बिजली पोल व हैंडपंप को शिफ्ट करने को लेकर क्लीयरेंस मिलने में खासा समय लग गया। अब सारी बाधाएं समाप्त हो चुकी हैं। इसके चलते निर्माण में रफ्तार आएगी।
अशोक श्रीवास , ईई पीडब्ल्यूडी दुर्ग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *