Headlines

Emergency Alert on smartphones with loud beep did you receive what is this

क्‍या आपके फोन में भी तेज बीप के साथ आया Emergency Alert? सरकार ने भेजा, जानें वजह

क्‍या आपके मोबाइल में भी ‘इमरजेंसी अलर्ट’ आया है? शुक्रवार दोपहर 12 बजे से 1 बजे के बीच तेज बीप के साथ कई लोगों के स्‍मार्टफोन की स्‍क्रीन में एक मैसेज दिखाई दिया। हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में प्रसारित हुए इस अलर्ट को पढ़कर लोग कन्‍फ्यून हो गए हैं। मैसेज में साफतौर पर लिखा गया है कि यह भारत सरकार के दूरसंचार विभाग की ओर से सेल ब्रॉडकास्टिंग सिस्‍टम के जरिए भेजा गया सैंपल टेस्ट मैसेज है। इसके बावजूद कई लोग इस मैसेज को समझ नहीं पाए हैं। आइए जानते हैं क्‍या है यह पूरा मामला।  
 

क्‍या मैसेज आया लोगों के फोन की स्‍क्रीन पर?    

दोपहर 12 बजे से 1 बजे के बीच तेज बीप के साथ फ्लैश हुए मैसेज की शुरुआत ‘इमरजेंसी अलर्ट’ लिखने के साथ हुई। मैसेज में बताया गया है कि (हिंदी में) यह भारत सरकार के दूरसंचार विभाग की ओर से सेल ब्रॉडकास्टिंग सिस्‍टम के जरिए भेजा गया एक सैंपल टेस्‍ट मैसेज है। कृपया इस मैसेज पर ध्‍यान ना दें, क्‍योंकि इस पर आपकी ओर से किसी एक्‍शन की जरूरत नहीं है। यह मैसेज राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (National Disaster Management Authority)  द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे पैन इंडिया इमरजेंसी अलर्ट सिस्‍टम टेस्टिंग को जांचने के लिए भेजा गया है। इस सिस्‍टम का मकसद पब्लिक सेफ्टी को बढ़ाना और इमरजेंसी के दौरान टाइम पर अलर्ट भेजना है।  
 

इसलिए भेजा गया मैसेज 

लोगों के फोन की स्‍क्रीन पर आए अलर्ट मैसेज की वजह खुद उसी में लिखी हुई है। इसका मतलब है कि सरकार पब्लिक सेफ्टी को और बढ़ाने के लिए मकसद से एक टेस्टिंग कर रही है। यह काम नेशनल डिजास्‍टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के साथ मिलकर किया जा रहा है। 
 

आपको इस मैसेज के कारण बहुत चिंता करने की जरूरत नहीं है। NDMA की जिम्‍मेदारी है कि वह आपदा के हालात में लोगों की मदद करे। भूकंप आने या बाढ़ आने जैसे हालात में सरकार लोगों को समय रहते अलर्ट कर पाए, इसी वजह से मैसेज की टेस्टिंग की गई है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, पिछले महीने भी कई लोगों के स्‍मार्टफोन में ऐसा मैसेज फ्लैश हुआ था।  
 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *