रायपुर में मर्डर:महिला से करीबी के चक्कर में हत्याकांड, दोस्तों ने ही मार दिया चाकू, एक दिन पहले ही जेल से छूटा था आरोपी

रायपुर में एक युवक की हत्या कर दी गई। दोस्तों के बीच हुए आपसी झगड़े ने जानलेवा रूप ले लिया। अस्पताल में इलाज के दौरान घायल युवक की मौत हो गई। हत्या के इस मामले में फरार दो बदमाशों को अब पुलिस ढूंढ रही है।

मृतक और आरोपी बदमाश प्रवृत्ति के थे।

मृतक और आरोपी बदमाश प्रवृत्ति के थे।

यह सारा मामला उरला थाना इलाके का है। जिस युवक की हत्या की गई उसका नाम अमर बंजारे था, सतनामी मोहल्ले में रहने वाले अमन पर उसके दोस्त गोलू ने हमला किया। गोलू के साथ एक और युवक इस कांड में शामिल था।

अवैध संबंध हमले की वजह
इस हत्याकांड के पीछे की वजह अवैध संबंध को बताया जा रहा है। अमन बंजारे का गोलू के परिवार की महिला से नजदीकियां थीं। यह बात गोलू को रास नहीं आई अमन के साथ गोलू शराब पीने पहुंचा और यही इस बात को लेकर दोनों झगड़ने लगे । पहले से ही साथ रखें चाकू से गोलू ने अमन पर वार कर दिया।

बुरी तरह से जख्मी हो जाने की बाद अमन को अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हुई। फिलहाल सामने आई जानकारी के मुताबिक अमन और गोलू दोनों ही अपराधी किस्म के थे। कुछ दिन पहले अमन को पुलिस प्रतिबंधित धाराओं में जेल भेजा था। इस हत्याकांड से एक दिन पहले ही गोलू भी जेल से छुटकारा आया था।

इधर पुलिस कर रही अपराध घटना का दावा
पुलिस का दावा है कि रायपुर में क्राइम का ग्राफ घटा है। बीते 2 सालों की तुलना करें तो हत्या और दुष्कर्म जैसे गंभीर अपराध कम हुए हैं। पुलिस के मुताबिक साल 2022 के जनवरी महीने से लेकर अगस्त तक 52 हत्या के मामले सामने आए थे। जबकि 87 मामलों में हत्या की कोशिश की गई। तो वहीं 2023 में जनवरी से लेकर अगस्त तक 40 हत्या के मामले, 60 हत्या की कोशिश हुई है।

इन 2 सालों के दौरान रेप के मामले 197 से घटकर 125 हो गए हैं। पुलिस के मुताबिक, 2022 के इन आठ महीनों में चाकूबाजी के 123 मामले आए। जो 2023 में घटकर सीधे 60 मामले तक सीमित हो गए। पुलिस की माने तो 47 प्रतिशत की इस कमी के पीछे अवैध नशाखोरी के खिलाफ होने वाला एक्शन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *