ED summons Ranbir Kapoor in Mahadev online betting app case what is this Know

Ranbir Kapoor को ED का समन, आलिया भट्ट के पति से ऑनलाइन सट्टेबाजी मामले में होगी पूछताछ, जानें पूरा मामला

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छत्तीसगढ़ के ‘Mahadev Online Book App’ (बेटिंग ऐप/ऑनलाइन सट्टेबाजी) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के केस में ऐक्‍टर रणबीर कपूर को समन जारी करते हुए शुक्रवार को पूछताछ के लिए मौजूद रहने को कहा है। पीटीआई के हवाले से यह जानकारी सामने आई है। ऐक्‍टर ने ऐप को प्रमोट करने वाले कई विज्ञापनों में काम किया है। ED का दावा है कि इसके बदले रणबीर को बड़ी रकम दी गई, जो एक अपराध की कमाई से थी।

ED का आरोप है कि रणबीर कपूर को कथित तौर पर ऐप के प्रमोटर्स में से एक की शादी में परफॉर्मेंस देने के लिए प्रमोटर्स से पैसे मिले। ED ने रणबीर कपूर को 6 अक्‍टूबर को उसके रायपुर ऑफ‍िस में मौजूद रहने के लिए कहा है। सूत्रों ने बताया कि ईडी 14 से 15 हस्तियों की मामले में भूमिका की जांच कर रही है। जल्‍द उन्हें भी पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा।

Mahadev Online Book App ऑनलाइन जुआ से जुड़ा ऐप है। पीटीआई के मुताबिक, कंपनी के प्रमोटर सौरभ चंद्रशेखर और रवि उप्पल, दुबई से ऐप को चला रहे थे। आरोप है कि नए यूजर्स का रजिस्‍ट्रेशन करने के लिए ‘ऑनलाइन बुक बैटिंग एप्लिकेशन’ का इस्तेमाल किया जाता था। उनकी आईडी बनाकर बेनामी बैंक अकाउंट्स के नेटवर्क के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग की जाती थी।  

ED की जांच में खुलासा हुआ है कि ‘महादेव ऑनलाइन बुक ऐप’ को यूएई में स्थित कंपनी के हेड ऑफ‍िस से ऑपरेट किया जाता था। सट्टे से हुई कमाई की रकम दूसरे देशों में मौजूद अकाउंट्स में भेजने के लिए बड़े पैमाने पर ‘हवाला’ का इस्तेमाल होता था। भारत में सट्टा वेबसाइट को प्रमोट करने के लिए बड़े पैमाने पर कैश का इस्तेमाल किया गया, ताकि नए यूजर्स और फ्रेंचइजी के लिए आकर्षित किया जा सके। फ्रेंचाइजी खोलने वाले कई यूजर्स को 70 रेश्‍यो 30 के अनुपात में लाभ मिलता था। कंपनी को प्रमोटर्स छत्तीसगढ़ के भिलाई के रहने वाले बताए जा रहे हैं। 
 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *